फिर फंसी शीला दीक्षित
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की मुश्किल सीएनजी फिटनेस के कथित घोटाले में बढ़ सकती है। दिल्ली में सत्तासीन केजरीवाल सरकार की एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने फैसला किया है कि सीएनजी फिटनेस घोटाले की जांच फिर से होगी। इस घोटाले में शीला के करीबी अधिकारी डीएम सपोलिया और पीके त्रिपाठी भी संदेह घेरे में आ रहे हैं।

100 करोड़ का था घोटाला

गौरतलब है कि दिल्ली के बुराड़ी में 2002 में 100 करोड़ का घोटाला हुआ था। इस घोटाले में तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बेहद करीबी अधिकारी का नाम आया था। हालांकि, यह मामला लंबे समय चला था। सीबीआई ने भी इस मामले में प्रीमिलरी इनक्वायरी दर्ज की थी। इस मामले में अधिकारियों के खिलाफ जांच के लिए जब अनुमति मांगी गई थी तब एलजी ने इसमें इजाजत देने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद ये मामला लटक गया था। सीबीआई ने इस पर आपत्ति भी जताई थी। अब दिल्ली सरकार की एंटी करप्शन टीम ने फिर से इस मामले की जांच करने का फैसला किया है।

साभार: दैनिक जागरण

Hindi News from India News Desk

Posted By: Prabha Punj Mishra

National News inextlive from India News Desk