-दोपहिया वाहन से मेला स्थित सेंट्रल हॉस्पिटल में ड्यूटी करने आ रहे थे एसीएमओ

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ मेला के दौरान लचर ट्रैफिक सिस्टम का शिकार सोमवार को एसीएमओ डॉ. अनिल संथानी को होना पड़ा. इलाहाबाद डिग्री कॉलेज चौराहे से होकर मेला एरिया स्थित सेंट्रल हॉस्पिटल की ओर ड्यूटी करने जा रहे डॉ. संथानी के साथ सीओ कुलदीप कुकरेती अभद्रता की. सीओ ने पहले उन्हें दोपहिया वाहन को किनारे करने को कहा. जब डॉ. संथानी ने अपना परिचय दिया तो सीओ ने उनके साथ गाली-गलौज की और धक्का दे दिया. इससे अनियंत्रित होकर डॉ. संथानी सड़क पर गिर गए. किसी तरह डॉ. संथानी ने अपने को संभाला तो पैरामिलिट्री के जवानों ने उन्हें वहां से निकाला. इसकी जानकारी जैसे ही हॉस्पिटल के अन्य डॉक्टरों को हुई तो उन्होंने एकजुट होकर सभी सेवाएं ठप कर दीं.

दो घंटे हड़ताल पर रहे डॉक्टर्स

डॉ. संथानी के साथ सीओ की अभद्रता की जानकारी मिलने के बाद सुबह दस बजे सेंट्रल हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने कामकाज ठप कर दिया. रजिस्ट्रेशन काउंटर, एक्सरे डिपार्टमेंट व ओपीडी सहित डॉक्टरों के चैम्बर में ताला जड़ दिया गया. हॉस्पिटल परिसर में ही एकजुट होकर डॉक्टरों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी. डॉक्टरों की हड़ताल से हड़कंप मच गया. मरीज और तीमारदार परेशान हो उठे. सभी ने एक सुर में सीओ कुलदीप कुकरेती के निलंबन की मांग की. इस बीच एडी हेल्थ डॉ. एके पालीवाल अपने चैम्बर में पहुंचे तो डॉक्टरों ने उन्हें घेर लिया और डीआईजी से वार्ता करके सीओ को निलंबित करने की मांग करने लगे. इस दौरान डॉ. संथानी ने एडी हेल्थ डॉ. पालीवाल को पूरी घटना की जानकारी दी.

डीआईजी ऑफिस का किया घेराव

एडी हेल्थ डॉ. पालीवाल ने पूरी घटना सुनने के बाद डॉक्टरों से हड़ताल वापस लेने की अपील की. लेकिन सभी डॉक्टर सीओ कुलदीप कुकरेती को निलंबित करवाने की मांग पर अड़े रहे. इस पर डॉ. पालीवाल डॉ. संथानी सहित कई डॉक्टरों को लेकर डीआईजी ऑफिस पहुंचे. वहां डीआईजी कुंभ मेला केपी सिंह को पूरी जानकारी दी. यहां पर डॉक्टरों की मेला की अविध में पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर डीआईजी कुंभ मेला से तीखी बहस हुई. इसके बाद श्री सिंह ने सीओ कुलदीप कुकरेती को ऑफिस में तलब किया. जैसे ही सीओ ऑफिस पहुंचे तो सभी डॉक्टर हत्थे से उखड़ गए. डीआईजी श्री सिंह ने बीच-बचाव कर डॉक्टरों को शांत कराया और सीओ से माफी मांगने के लिए कहा. सीओ ने डॉ. संथानी से माफी मांगी. इसके बाद डॉक्टरों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली.

वर्जन

पुलिस की कार्यप्रणाली लगातार परेशान करने वाली रही. सोमवार को सीओ ने हद कर दी. कार्ड दिखानेके बाद भी उसने मेरे साथ गाली-गलौज और बदसलूकी की. एडी हेल्थ के साथ हम लोग डीआईजी ऑफिस गए, जहां सीओ ने अपने कृत्य के लिए माफी मांगी.

-डॉ. अनिल संथानी, एसीएमओ सेंट्रल हॉस्पिटल