कांवड़ मार्ग में छोटे-छोटे बच्चे भी कांवडि़यों की सेवा में जुटे

आधुनिकता और अध्यात्म की मिसाल बना कांवड़ मार्ग

Meerut . पैरों में सूजन, दिल में जुनून, आस्था का जज्बा और आराध्य की एक झलक पाने की तमन्ना, यही तस्वीर है कांवड़ मार्ग की, जहां कांवडि़ए नंगे पैर अपने आराध्य भगवान भोलेनाथ की झलक पाने के लिए बेताब होकर चल रहे हैं. तमाम कष्टों को सहते हुए कांवडि़ए गंतव्य की ओर की बढ़ रहे हैं. लिहाजा कांवड़ मार्ग पर भगवा रंग एकरूपता के साथ-साथ भक्ति और आस्था का संदेश दे रहा है.

हर कोई सेवा को आतुर

एक ओर कांवडि़ए हरिद्वार से गंगाजल लेकर बाबा भोलेनाथ का जलाभिषेक करने का संकल्प लेकर चल रहे हैं तो दूसरी ओर शहर का हरेक अपनी साम‌र्थ्य के अनुसार उनकी सेवा को आतुर है. बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक कांवड़ मार्ग में कांवडि़यों की सेवा में जुटे हैं. छोटे छोटे बच्चे हाथों में पानी का गिलास थामे कांवडि़यों को जल पिलाने के लिए मनुहार कर रहे हैं. आस्था और एकजुटता और परस्पर संयोग की मिसाल कांवड़ मार्ग पर देखी जा रही है.

बाबा के कई स्वरूप

हरिद्वार से गंगाजल लेकर दिल्ली राजस्थान हरियाणा आदि प्रदेशों में जा रहे कांवडि़यों के साथ विभिन्न प्रकार की आकर्षक झांकियां भी चल रही हैं. इनमें भोलेबाबा के कई स्वरूपों के दर्शन हो रहे हैं. कांवड़ मार्ग पर मनमोहक झांकियों को देखने के लिए लोगों को हुजुम भी सड़कों पर उमड़ पड़ा है.

बढ़ने लगी संख्या

अब हरिद्वार से आने वाले कांवडि़यों की संख्या में इजाफा होने लगा है. हालत यह है कि हरिद्वार-दिल्ली नेशनल हाइवे 58 पर चारों ओर भगवा ड्रेस में कांवडि़यों का हुजूम ही नजर आ रहा है.

शहर से गुजरे गोल्डन बाबा

हरिद्वार से गंगाजल लेकर लौट रहे गोल्डन बाबा ने रविवार को शहर से गुजरे. इस बार बाबा गोल्डन बाबा कांवड़ यात्रा की सिल्वर जुबली मना रहे हैं. खास बात यह है कि गोल्डन बाबा तकरीबन डेढ़ किलो सोने के आभूषण पहनकर चलते हैं. उनकी सुरक्षा के लिए करीब 25 पुलिसकर्मियों की तैनाती कगई है.

आज से शुरू होगी डाक कांवड़

आज से हरिद्वार से गंगाजल लेकर आने वाली डाक कांवड़ का सिलसिला शुरू हो जाएगा. प्रशासन के आंकड़ों के मुताबिक अभी तक तकरीबन 10 लाख कांवडि़यों ने मेरठ की सीमा को पार कर चुके हैं. एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने बताया कि यह आंकड़ा दो दिन में अस्सी व नब्बे लाख के आसपास पहुंच सकता है. इसलिए लिए उन्होंने पूरी तैयारियां कर ली है.

शुरू हो गया वन-वे

कांवडि़यों की सुरक्षा के लिए सड़कों पर वन वे ट्रैफिक व्यवस्था हो गई है. हर चौराहे पर आरएएफ व सीआरपीएफ ने मोर्चा संभाल लिया है.हालांकि वन वे होने के कारण कई चौराहों पर जाम जैसी स्थिति बन गई है.

दोनो रास्ते होंगे बंद

डाक कांवड़ के लिए प्रशासन ने खास व्यवस्था की है. एसएसपी राजेश कुमार पांडे ने बताया कि डाक कांवडि़यों के लिए सोमवार से बुधवार तक दोनों तरफ से रास्ते पर चौपहिया व दो पहिया वाहनों के आवागमन को बंद कर दिया जाएगा.

पास वाले वाहन ही चलेंगे

एसएसपी राजेश कुमार पांडे ने बताया कि सोमवार से सड़क पर वाहन वाले पास की एंट्री होगी. वह भी कांवड़ मार्ग को छोड़कर चल सकेंगे. सकौती से मोहिउद्दनपुर तक नेशनल व स्टेट हाइवे पर चारों तरफ कांवडि़यां ही कांवडि़यां नजर आ रहे है.