नई दिल्ली (एएनआई)। हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता, भूपिंदर सिंह हुड्डा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के राज्य में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लागू करने की आवश्यकता वाले बयान समर्थन किया है। हुड्डा का यह बयान खट्टर के हरियाणा में एनआरसी लागू करने की घोषणा के कुछ ही घंटों के अंदर आया है।

पार्टी को लग सकता है झटका

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, 'मुख्यमंत्री ने जो कहा है, उस संबंध में पहले से ही कानून है, विदेशियों को जाना होगा। यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह उनकी पहचान करे।' कांग्रेस नेता के इस रुख से पार्टी को झटका लग सकता है क्योंकि उसने असम में एनआरसी का कड़ा विरोध किया था।

एसएस भल्ला से मिलने के बाद मुख्यमंत्री खट्टर ने दिया बयान

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और हरियाणा में पार्टी प्रमुख कुमारी शैलजा रविवार को नई दिल्ली में भारतीय राष्ट्रीय लोकदल (इनेलो) के नेताओं के कांग्रेस में शामिल होने के दौरान एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद थे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सेवानिवृत्त न्यायाधीश व असम में एनआरसी प्रक्रिया की समीक्षा करने जा रहे एसएस भल्ला से मिलने के बाद पंचकुला में संवाददाताओं से कहा, 'हम हरियाणा में भी एनआरसी को लागू करेंगे।'

भारत सरकार द्वारा पंजीकृत एक रजिस्टर है NRC

NRC भारत सरकार द्वारा पंजीकृत एक रजिस्टर है जिसमें सभी वास्तविक भारतीय नागरिकों की पहचान के लिए नाम और कुछ प्रासंगिक जानकारी है। असम में, NRC की अंतिम सूची 31 अगस्त को प्रकाशित की गई थी। 19 लाख से अधिक लोगों का नाम इसमें नहीं है। हालांकि, जो लोग छूट गए हैं, वे अभी भी नामित विदेशियों के न्यायाधिकरण में अपने मामलों की सुनवाई के लिए 120 दिनों के भीतर आवेदन कर सकते हैं।

Posted By: Mukul Kumar