RANCHI: कोरोना को लेकर झारखंड में लॉकडाउन जारी है। इस बीच सरकार ने राज्य के अंदर आने-जाने के लिए प्राइवेट गाडि़यों के परिचालन को छूट दे दी है। छूट मिलते ही हॉस्पिटल में एकबार फिर मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। रिम्स और सदर के इमरजेंसी में मरीज लॉकडाउन की तुलना में अब दोगुने आने लगे हैं, जिसमें यह तो साफ हो गया कि लॉकडाउन की वजह से लोगों ने अपना दर्द छुपा रखा था, जो छूट मिलने के बाद सामने आ रहे हैं।

दो दिनों में 100 से ज्यादा मरीज

रिम्स में सामान्य दिनों में 400 से 450 मरीज इमरजेंसी में इलाज के लिए पहुंचते थे, जिसमें एक्सीडेंट के अलावा गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों को इलाज के लिए लाया जाता था। लेकिन लॉकडाउन की घोषणा के बाद इमरजेंसी में केवल 30 से 40 मरीज ही इलाज के लिए पहुंच रहे थे। उसमें भी वैसे मरीज थे जिनका घर पर रखकर इलाज संभव नहीं था। अब 2 दिनों से हर दिन 100 से अधिक मरीज आने शुरू हो गए हैं। वहीं इमरजेंसी में आने वाले आधे से अधिक मरीजों को एडमिट किया जा रहा है ताकि उनका बेहतर इलाज हो सके।

इनडोर में 650 मरीजों का इलाज

हॉस्पिटल में लॉकडाउन के दौरान मरीजों की संख्या में कमी आई थी। चूंकि इमरजेंसी वाले मरीजों का ही इलाज चल रहा था। इस दौरान इनडोर में केवल 400 मरीज ही अलग-अलग विभागों में अपना इलाज करा रहे थे। वहीं मरीजों के आने जाने का सिलसिला भी जारी था। अब लॉकडाउन में जब छूट मिली तो हर दिन 70 से 80 मरीजों का एडमिशन शुरू हो गया है जिन्हें एडमिट करने की जरूरत थी। अब मरीजों की संख्या बढ़ने से यह आंकड़ा 650 के करीब पहुंच गया है। बताते चलें कि इनडोर में हमेशा 1500 से अधिक मरीजों का इलाज होता था। वहीं सैंकड़ों मरीज जमीन पर इलाज कराने को मजबूर थे। लेकिन गाडि़यां नहीं चलने के कारण रिम्स आने में लोगों को काफी परेशानी हो रही थी। इस वजह से बेड खाली पड़े थे।

सदर में भी पहुंचने लगे मरीज

रांची व आसपास के इलाकों से डिलीवरी के लिए आने वाले मरीजों की पहली पसंद सदर हॉस्पिटल है। जहां पर इमरजेंसी में भी मरीजों की संख्या अचानक से बढ़ गई है। हर दिन इमरजेंसी में 30 से 40 मरीज इलाज को पहुंच रहे हैं। इस वजह से धीरे-धीरे इनडोर में भी मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। इसे देखते हुए प्रबंधन ने भी अपनी ओर से पूरी तैयारी कर ली है ताकि किसी भी स्थिति में मरीजों का इलाज प्रभावित ना हो। ओपीडी खुलने के बाद मरीजों की संख्या और बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है। हालांकि, सरकार की ओर से ओपीडी खोलने को लेकर कोई आदेश फिलहाल प्रबंधन को नहीं मिला है।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner