- रामा मेडिकल कॉलेज में क्वारंटीन पर रखा गया था, मेरठ का रहने वाला जमाती निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज में शामिल होकर आया था

Meerut: दिल्ली के निजामुद्दीन ब्लीगी मरकज से देश भर में फैले कोरोना पॉजिटिव जमातियों ने कानपुर के लोगों की मुसीबत को कई गुना बढ़ा दिया है। 6 जमातियों के पॉजिटिव आने के बाद संडे को एसजीपीजीआई लखनऊ से कानपुर के एक और जमाती की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। मेरठ का रहने वाला 33 साल का यह युवक भी तब्लीगी मरकज में शामिल होकर आया था। कोरोना पाजिटिव आए इस जमाती को अब रामा मेडिकल कालेज से हैलट के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया जाएगा।

चेन की खोजबीन शुरू

संडे को कोरोना पॉजिटिव आया मेरठ का युवक मस्जिदों में खोजबीन के दौरान जिला प्रशासन को मिला था। जिसके बाद उसे रामा मेडिकल कॉलेज में क्वारंटीन पर भेज दिया था। स्वास्थ्य विभाग की ओर से अब इसकी कॉटेक्ट चेन को पता लगाने काम शुरू कर दिया गया है। यह कब कानपुर आया। किसके किसके संपर्क में रहा, कहां कहां गया। यह सब पता लगाया जा रहा है।

मस्जिद में मिला

कोरोना पाजिटिव आए मेरठ के 33 साल के जमाती को पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने नौबस्ता मछरिया की एक मस्जिद से रामा मेडिकल कॉलेज भेजा था। इस मस्जिद के आसपास के एक किलोमीटर के एरिया को पहले ही रेड जोन घोषित कर दिया गया है। साथ ही संडे को यहां भी सेनेटाइजेशन के साथ डोर टू डोर सर्वे शुरू करके जमातियों के संपर्क में आए लोगों को क्वारानटीन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वहीं उर्सला में भर्ती गोलाघाट के 9 लोगों को भी नारायणा रिसर्च सेंटर में क्वारन्टीन पर भेज दिया गया है।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner