ढाका (आईएएनएस)बांग्लादेश में अधिकारियों ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए एक निवारक उपाय के रूप में देश के सबसे बड़े वेश्यालय को 15 दिनों के लिए बंद कर दिया है। वेश्यालय कई अन्य व्यवसायों में से एक है जिसे घातक वायरस के प्रसार से लड़ने में मदद करने के लिए बंद करने का आदेश दिया गया है। इस वायरस ने 20 लोगों को संक्रमित किया है और बांग्लादेश में अब तक एक व्यक्ति की मौत हो गई है। स्थानीय पुलिस प्रमुख आशिकुर रहमान ने बताया, 'आज (शुक्रवार) से, दौलतदिया में वेश्यालय को अस्थायी रूप से कोरोना वायरस के खिलाफ सावधानियों के हिस्से के रूप में बंद कर दिया गया है। इसमें काम करने वाले सभी को 5 अप्रैल तक किसी भी आगंतुक को अनुमति नहीं देने के लिए कहा गया है।'

वेश्यालय में रोज 5000 लोगों का आना-जाना

आशिकुर ने कहा कि पुलिस ने अनुरोध किया है कि प्रशासन बंदी के दौरान वेश्यालय में काम करने वाले सभी का समर्थन करने के लिए लगभग 32 मीट्रिक टन चावल आवंटित करे। वेश्यावृत्ति मुख्य रूप से बांग्लादेश में अवैध है लेकिन आशिकुर ने कहा कि वे व्यापार में हस्तक्षेप नहीं करते हैं, जो सदियों से देश में चल रहा है। बता दें कि पद्मा नदी के तट पर स्थित दौलतदिया वेश्यालय, ढाका से लगभग 100 किलोमीटर पश्चिम में एक प्रमुख राजमार्ग के पास देश के लगभग 12 वेश्यालयों में से सबसे बड़ा है। झुमुर बेगम, जो काम करने वाली महिलाओं के लिए एक चैरिटी की प्रमुख हैं, ने कहा कि वेश्यालय में लगभग 1,500 लोग काम करते हैं और लगभग 5,000 ग्राहक यहां रोज आते हैं।

बेगम ने की मदद की अपील

बेगम ने कहा कि उन्होंने कोरोना वायरस के लिए एहतियात के तौर पर वेश्यालय बंद घोषित किए जाने के बाद अधिकारियों से मदद की अपील की है। उन्होंने कहा, 'काम करने वाले सभी ने सरकारी आदेश को स्वीकार किया क्योंकि यह एक गंभीर स्वास्थ्य मुद्दा है। लेकिन साथ ही हम अधिकारियों से अनुरोध करते हैं कि वे इन लोगों की मदद करें। यदि वेश्यालय लंबे समय तक बंद रहता है तो यह उनके लिए मुश्किल होगा।' बांग्लादेश के स्वास्थ्य महानिदेशालय ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि देश में कुल 14,264 लोगों को होम क्वारंटाइन में रखा गया है, जबकि 107 लोगों को संदिग्ध कोरोना वायरस संक्रमण के लिए अलग-थलग रखा जा रहा है।

International News inextlive from World News Desk