चंडीगढ़/महाराष्ट्र (एएनआई/पीटीआई)। Coronavirus के प्रसार से उत्पन्न खतरे के मद्देनजर देशव्यापी लाॅकडाउन के बाद लोगों ने आपस में सोशल डिस्टेंसिंग यानी कि सामाजिक दूरी की प्रैक्टिस करना शुरू कर दिया है। इसके जरिए लोग कोरोना वायरस का दुष्चक्र तोड़ने के लिए चाक से 'लाइफ सर्किल' बना रहे हैं। देश के अलग-अलग कोनों से इसकी तस्वीरें सामने आ रही हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन, अमरिंदर सिंह ने बुधवार को अपने ट्विटर हैंडल पर कुछ तस्वीरें साझा कीं, जिसमें एक स्टोर से अपनी जरूरत का सामान लेते हुए लोगों को चाक के अलग-अलग घेरे में खड़े देखा गया है। उन्होंने कहा मुझे सिर्फ ये तस्वीरें मिलीं।

चाक से लाइफ सर्किल निशान बनाकर खड़े हो रहे हैं लोग

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस दाैरान इस लाइफ सर्किल को लेकर पंजाबियों की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि पंजाबियों द्वारा अद्भुत अनुशासन। घर पर रहें और खुद को सुरक्षित रखें। प्रशासन और पुलिस आप सभी के लिए जरूरी चीजों को सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं। इस बीच, नोएडा, बेंगलुरु और गुजरात में लोगों ने ग्राहकों के बीच सुरक्षित दूरी बनाए रखने के लिए किराने की दुकानों के बाहर लेन पर चाक से लाइफ सर्किल निशान बनाया और फिर उन्हीं के हिसाब से खड़े हुए। इससे लोगों में एक अच्छी दूरी बनी है।

चाक से सर्किल बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन की जा रही

वहीं महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में लोगों ने इसे लागू करना शुरू कर दिया है। इससे उन लोगों के यह एक अच्छा विकल्प है जो किराने का सामान और सब्जियां खरीदने के लिए अपने घरों से बाहर निकल रहें हैं। महाराष्ट्र के पन्हाला, अजारा और कोल्हापुर जिले में पुलाची शिरोली नामक एक गांव में लोगों ने मंगलवार शाम से ही चाक सर्किल बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन करना शुरू कर दिया था। पुलाची शिरोली गाव के निवासी रंजीत चौगुले ने कहा, जब मैंने चीन की ये तस्वीरें पहली बार देखीं तो मुझे हंसी आई बाद में अहसास हुआ कि यह सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन रखने का अच्छा तरीका है।coronavirus का दुष्चक्र तोड़ने के लिए भारतीय चाक से बना रहे 'लाइफ सर्किल'

कोरोना के दुष्चक्र को तोड़ने के लिए चाक सर्किल बहुत जरूरी

हालांकि फिर इसके लिए मैंने दोस्तों के साथ इसकी चर्चा की और इसे स्थानीय दुकान मालिकों को दिखाया, जिन्होंने कुछ विचार-विमर्श के बाद इसे फाॅलो करना शुरू कर दिया। महाराष्टर् समेत देश के अन्य राज्यों में भी लोग कोरोना के दुष्चक्र को तोड़ने के लिए चाक सर्किल बना रहे हैं। देश में कोरोना वायरस के अब तक 560 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। इसमें 112 मामलों की पुष्टि के साथ महाराष्ट्र सबसे ऊपर है। मंगलवार को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश को 21 दिनों के लिए लाॅकडाउन कर दिया।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk