रियाद, नई दिल्ली (एएनआई/आईएएनएस) दुनिया भर में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच वैश्विक अर्थव्यवस्था के बचाव के उपायों पर चर्चा करने के लिए 20 देशों के समूह के नेता आज वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से एक शिखर सम्मेलन आयोजित करने वाले हैं। मंगलवार को G20 सेक्रेटेरिएट द्वारा प्रकाशित बयान के अनुसार, इस समिट की अध्यक्षता सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सऊद करेंगे और इसका उद्देश्य कोरोना वायरस महामारी और दुनिया भर में इससे हुए नुकसान से कैसे निपटना है, इसपर विस्तृत चर्चा करना है। सूत्रों के मुताबिक, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग गुरुवार को शाम 5.30 बजे से शुरू होगी और शाम 7 बजे तक चलेगी।बता दें कि कोरोना वायरस जब से शुरू हुआ है, यह वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला, शेयर बाजार में अस्थिरता और बड़ी पैमाने पर व्यवधान पैदा कर चुका है और आईएमएफ के प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीवा का कहना है कि यह वित्तीय संकट भी पैदा कर सकता है।

शिखर सम्मेलन के बारे में पीएम मोदी ने बताया

बता दें कि भारत भी G20 समूह का सदस्य राष्ट्र है। इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वीडियो कांफ्रेंस के जरिए इस बैठक में भाग लेंगे। बुधवार को शिखर सम्मेलन के बारे में बोलते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में जी 20 की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा, 'G20 की कोरोना वायरस महामारी को संबोधित करने में एक महत्वपूर्ण वैश्विक भूमिका है। मैं G20 वर्चुअल समिट में कल सऊदी जी 20 प्रेसीडेंसी द्वारा आयोजित किए जाने वाले उत्पादक चर्चा के लिए तत्पर हूं।' बता दें कि जी 20 के अन्य सदस्यों में अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, जर्मनी, फ्रांस, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूसी संघ, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूके, अमेरिका और यूरोपियन यूनियन शामिल हैं। कोरोना वायरस के प्रकोप की स्थिति के मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र, विश्व बैंक, विश्व स्वास्थ्य संगठन और विश्व व्यापार संगठन सहित कई अंतरराष्ट्रीय संगठन भी इस बैठक में हिस्सा लेंगे।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk