मुंबई (ब्यूरो)। Coronavirus COVID-19 Impact : अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस और विशेषज्ञ डॉ. मारिया वान केरखोव के साथ मंगलवार को लाइव वीडियो कांफ्रेंसिंग की। अभिनेत्री ने अपने प्रशंसकों की तरफ से पूछे गए सवालों को विशेषज्ञों के समक्ष रखा। विशेषज्ञों ने लोगों के सवालों का जवाब देने के साथ- साथ कोरोना वायरस से जुड़ी भ्रांतियों को भी दूर किया। उन्होंने इस लाइव सेशन का वीडियो इंस्टाग्राम पर भी साझा किया है। प्रियंका यूनिसेफ की गुडविल एंबेसडर भी हैं। वह इन दिनों अमेरिका में पति निक जोनास के साथ होम क्वारंटाइन पर हैं।

View this post on Instagram

I accept the #SafeHands challenge 🧼@DrTedros. One of the main takeaways from our IG live chat yesterday was the importance of washing your hands properly. It&यs a simple action that can help save lives and flatten the curve. And here's a song to ensure you're doing this for at least 20 seconds.🎵 co-written by @nickjonas. I nominate @katebosworth, @mindykaling, @nickjonas, @parineetichopra and @amitabhbachchan. Namaste 🙏🏽

A post shared by Priyanka Chopra Jonas (@priyankachopra) on Mar 25, 2020 at 1:03pm PDT

21 दिनों के लाॅकडाउन पर डब्ल्यूएचओ ने की बात

वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रियंका ने भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन का जिक्र किया। डॉ. टेड्रोस ने इसे जरूरी कदम बताया। उन्होंने कहा कि सामाजिक और शारीरिक दूरी आवश्यकता है। बात करते वक्त आपस में पर्याप्त दूरी बनाए रखें। वायरस की चपेट में आए मरीजों को आइसोलेशन में रखा जाए जो लोग घर पर हैं, वे वहीं खुद को क्वारंटाइन करें। उन्होंने यह भी कहा कि चीन में मामले ज्यादा बढ़े क्योंकि वहां लोगों ने एहतियात नहीं बरते। डॉ. मारिया ने कहा कि लोग भले ही घरों में रहकर परेशान हो रहे हैं लेकिन इसका नतीजा सकारात्मक होगा। इस वायरस को हराने में सभी को अहम किरदार निभाना है। इसलिए सरकार के दिशा- निर्देशों का पालन करें। आपकी सरकार परिस्थितियों को आपसे बेहतर समझती है।

डायबिटीज, कार्डियोवैस्कूलर व कैंसर मरीज बरतें ज्यादा सावधानी

पहला सवाल निक ने पूछा। उन्होंने कहा कि मेरे जैसे डायबिटिक और प्रियंका की तरह अस्थमा पीड़ित को किस तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए। डॉ. टेड्रोस ने कहा कि डायबिटीज, कार्डियोवैस्कूलर और कैंसर जैसी बीमारियों से पीडि़त लोगों में इसके खतरे ज्यादा हैं लेकिन युवा और स्वस्थ लोग भी चपेट में आ सकते हैं। हर कोई खतरे में है। बस सावधानियां बरतें। डॉक्टरों ने यह भी बताया कि कोरोना वायरस हवा से नहीं फैलता।

कोरोना वायरस पर तापमान के प्रभाव को लेकर अध्ययन जारी

गर्मी के दिनों में क्या इस वायरस का असर कम हो जाएगा? डॉक्टरों ने कहा कि इस पर शोध चल रहा है। अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है क्योंकि यह बैक्टीरिया नहीं वायरस है। यह अलग- अलग तापमान पर फैल सकता है। अफ्रीका और सिंगापुर में हमने इसे गर्म मौसम में फैलते हुए देखा है। जो कोरोना से स्वस्थ हो चुका है क्या उसे दोबारा संक्रमण हो सकता है? इस पर उन्होंने कहा कि ऐसा कोई प्रमाण नहीं मिला है। हम दूसरे देशों से आंकड़े जुटा रहे हैं। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने प्रियंका को वीडियो कांफ्रेंसिंग खत्म होने पर नमस्ते भी किया।

Posted By: Vandana Sharma

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk