लखनऊ (आईएएनएस)उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने बुधवार को 12,000 से अधिक मोबाइल वैन, ई-रिक्शा और 'टाल' (ठेले) तैनात किए हैं, ताकि लॉकडाउन के दौरान खाद्य पदार्थों की डोरस्टेप डिलीवरी सुनिश्चित की जा सके। राज्य गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव, अवनीश अवस्थी ने संवाददाताओं से कहा कि मुख्यमंत्री व्यक्तिगत रूप से लोगों के लिए आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ग्राहकों की भीड़ को रोकने के लिए कई दवा की दुकानों ने अपनी दुकानों के बाहर दूरी लोगों के बीच दूरी बनाना शुरू कर दिया है। अवस्थी ने यह भी कहा कि लॉकडाउन के उल्लंघन के लिए 1,788 एफआईआर दर्ज की गई हैं और 5,592 व्यक्तियों पर जुर्माना लगाया गया है।

आवाजाही को बंद करने के लिए राज्य में 6,022 बैरियर लगाए गए

उन्होंने कहा कि लोगों और वाहनों की आवाजाही को बंद करने के लिए राज्य में 6,022 बैरियर लगाए गए हैं। मुख्यमंत्री की हेल्पलाइन भी 10,000 से अधिक ग्राम प्रधानों को यह विश्वास दिलाने के लिए दी गई है कि सरकार हर समस्याओं का समाधान करेगी। राज्य सरकार ने पान मसाला और गुटखे पर प्रतिबंध लगाने की बात कही है क्योंकि थूक को कोरोना वायरस का वाहक माना जाता है और जो लोग तंबाकू चबाते हैं वे सड़कों पर थूकते हैं। इस बीच, लखनऊ जिला प्रशासन ने आदेश दिया है कि आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाली सभी दुकानें सुबह 6 बजे से रात 11 बजे तक खुली रहेंगी, जबकि पेट्रोल पंप और दवा की दुकानें चौबीसों घंटे खुली रहेंगी।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk