सियोल (आईएएनएस)इस साल के पहले चार महीनों में मुख्य रूप से कोरोना वायरस महामारी के कारण दक्षिण कोरिया में बेरोजगार लोगों की संख्या में रिकॉर्ड वृद्धि हुई है। विपक्षी पार्टी यूनाइटेड फ्यूचर पार्टी के ची क्यूंग-हो की रिपोर्ट के अनुसार, जनवरी-अप्रैल की अवधि में देश में लगभग 2.08 मिलियन लोग बेरोजगार हो गए। 2000 में डेटा ट्रैकिंग शुरू होने के बाद यह आंकड़ा सबसे बड़ा है, जबकि रिपोर्ट स्टैटिक्स कोरिया के रॉ डेटा पर आधारित है। चार महीने की अवधि में, लगभग 1.05 मिलियन दक्षिण कोरियाई कर्मचारियों को कंपनी की वित्तीय परेशानियों के कारण नौकरी से हाथ धोना पड़ा।

धीमी अर्थव्यवस्था बेरोजगारी का कारण

2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के दौरान बेरोजगारों और स्वेच्छा से नौकरी गंवाने वालों की संख्या की तुलना में यह आकड़ा अधिक है। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के चलते धीमी हुई वैश्विक अर्थव्यवस्था के कारण बेरोजगारों की संख्या में वृद्धि हुई है। सख्त सोशल डिस्टैन्सिंग की वजह से भी अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान झेलना पड़ रहा है क्योंकि लोग बाहर जाने से बच रहे हैं और संक्रमण के बीच अपने पैसे भी खर्च करने से कतरा रहे है। बता दें कि अब तक, कोरोना वायरस ने दक्षिण कोरिया में 11,000 से अधिक लोगों को संक्रमित किया है, जिसमें मरने वालों की संख्या 262 है।

International News inextlive from World News Desk