नई दिल्ली (रॉयटर्स)भारत जल्द ही अपने कोरोना वायरस कॉन्टैक्ट-ट्रेसिंग एप्लीकेशन का एक वर्जन पेश करेगा जो मोबाइल कंपनी रिलायंस जियो के सस्ते फोन पर भी काम कर सकता है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि इसके जरिए सरकार इस ऐप के उपयोग को बढ़ाना चाहती है। बता दें कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश में दुनिया का सबसे बड़ा लॉकडाउन लगाने वाले भारत ने पिछले महीने आरोग्य सेतु (हेल्थ ब्रिज) ऐप लॉन्च किया था। यह एक ब्लूटूथ और जीपीएस-आधारित एप्लिकेशन है। भारत सरकार का यह ऐप उन उपयोगकर्ताओं को सचेत करता है, जो कोरोना पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आ सकते हैं। इस ऐप को अब तक 83 मिलियन से अधिक बार डाउनलोड किया गया है।

शुरू में सिर्फ 500 मिलियन स्मार्टफोन यूजर्स के लिए उपलब्ध था यह ऐप

यह ऐप शुरु में Google के एंड्रॉइड और Apple उपकरणों पर भारत के लगभग 500 मिलियन स्मार्टफोन यूजर्स के लिए उपलब्ध था लेकिन अब तक इसे बेसिक फीचर फोन के लिए पेश नहीं किया गया है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने रॉयटर्स को बताया, 'एक हफ्ते के भीतर, ऐप के एक वर्जन को JioPhone के 100 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं के लिए पेश किया जाएगा। फिलहाल इसकी टेस्टिंग चल रही है।' बता दें कि यह एक सस्ता और इंटरनेट-इनेबल फीचर फोन है, जो KaiOS नाम के एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है। हालांकि, भारत के प्रौद्योगिकी मंत्रालय और रिलायंस जियो ने इसपर कोई भी टिप्पणी नहीं की है।

Posted By: Mukul Kumar

Technology News inextlive from Technology News Desk

inext-banner
inext-banner