कानपुर। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंडियन प्रीमियर लीग के 13 वें संस्करण को स्थगित कर दिया है। मूल रूप से इसे 29 मार्च से शुरू किया जाना था मगर अब इसे 15 अप्रैल तक टाल दिया गया है। इसके बाद भी टूर्नामेंट आयोजित होगा, इसकी गारंटी नहीं है। बोर्ड का कहना है आगे का फैसला मौजूदा हालत को देखकर लिया जाएगा। क्रिकेट जगत की सबसे चर्चित लीग आईपीएल पर खतरा ब्रॉडकॉस्टर और फ्रेंचाइजी को काफी नुकसान पहुंचा सकता है। आइए जानें किस-कितना होगा नुकसान।

तीन संभावनाएं हो सकती हैं

आईपीएल 13 को लेकर इस बार तीन स्थिति बन रही हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, आईपीएल के न होने या कम मैच खेले जाने पर करोड़ों का नुकसान हो सकता है। पहली स्थिति - अप्रैल तक सबकुछ सही हो जाए और पूरे 60 मैचों का टूर्नामेंट हो। दूसरी स्थिति - आईपीएल तो होगा, मगर मैच और दिनों की संख्या कम कर दी जाए। तीसरी स्थिति - जब टूर्नामेंट पूरी तरह रद हो जाए।

पहली स्थिति में कितना असर

अगर अप्रैल से आईपीएल शुरु होता है तो सबसे कम नुकसान होगा। चूंकि सरकार के आदेश के मुताबिक मैच खाली स्टेडियम में कराए जाएंगे। ऐसे में टिकट से आने वाला पैसा नहीं मिल पाएगा। वैसे भी ब्रॉडकॉस्टर विज्ञापन से ज्यादा पैसा कमाते हैं। ऐसे में दर्शकों के न आने से टीम, बोर्ड पर उतना असर नहीं पडऩे वाला। ब्रॉडकॉस्टर स्टार इंडिया और अन्य स्पान्सर को मिलाकर एक साल के लिए कुल 4000 करोड़ रुपये का निवेश होता है। अगर टूर्नामेंट में बदलाव नहीं होता है तो यह आंकड़ा भी नहीं बदलेगा। आईपीएल के आयोजन पर बोर्ड और फ्रेंचाइजी मुनाफे में 50-50 परसेंट के भागीदार होंगे। वहीं खिलाडिय़ों को पूरा पैसा मिलेगा। इसके अलावा मैच अफिशल और सभी कर्मचारी भी अपना पूरा भुगतान पाएंगे।

दूसरी स्थिति में कितना असर

अगर मैच और दिनों की संख्या कम होती है तो तमाम स्टेकहोल्डर को नुकसान होगा। साथ ही क्रिकेटर्स भी भारी नुकसान में आ जाएंगे। ब्रॉडकॉस्टर पहले ही 90 प्रतिशत तक विज्ञापन बेच चुका है। ऐसे में आईपीएल छोटा होने से सबकुछ हिसाब फिर से लगाया जाएगा। इसके अलावा होटल और एयरलाइंस इंडस्ट्री को थोड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है क्योंकि मैच कम होंगे और टूर्नामेंट जल्दी खत्म हो जाएगा। इस स्थिति में बोर्ड और ब्रॉडकॉस्टर को बैठकर फिर से हिसाब-किताब लगाना होगा। इसके अलावा सभी स्टेकहोल्डर मैचों की संख्या के हिसाब से पैसों में कटौती करेंगे।

तीसरी स्थिति में कितना असर

आईपीएल 13 पूरी तरह से रद हो जाता है तो सभी को काफी नुकसान होगा। बीसीसीआई से लेकर ब्रॉडकॉस्टर, फ्रेंचाइजी, प्लेयर्स और स्टॉफ सभी को घाटा होगा। यह कई तरह का होगा। स्टार इंडिया विज्ञापन और डिस्ट्रीब्यूशन से पैसे नहीं कमा पाएगा। इसका मतलब है कि वह बीसीसीआई को 3 हजार करोड़ रुपये नहीं देगा। वहीं स्पान्सर वीवो भी 439 करोड़ रुपये पेमेंट नहीं देगा।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk