नई दिल्ली (आईएएनएस)। कोरोना वायरस संकट के बीच कृषि क्षेत्र से राहत भरी खबर आई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार को घोषणा की कि देश कृषि क्षेत्र में सामान्य स्थिति की ओर बढ़ रहा है क्योंकि रविवार तक 80 फीसदी गेहूं की कटाई हो चुकी है और 2,000 से अधिक मंडियां चालू हैं। एक प्रेस वार्ता में गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने जिक्र किया कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MNREGS), विशेष रूप से जल संरक्षण और सिंचाई परियोजनाओं जैसी बड़ी सामुदायिक परियोजनाएं, 2 करोड़ मजदूरों को रोजगार प्रदान कर रही हैं।

किसान रथ ऐप ने व्यापारियों और किसानों के बीच लेन-देन को आसान बनाया

गृह मंत्रालय अधिकारी ने यह भी कहा कि विशेष आर्थिक क्षेत्रों में 60 प्रतिशत से अधिक खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां (2,825) और 350 निर्यात उन्मुख इकाइयां काम कर रही हैं। इस तरह से हम कृषि में सामान्य स्थिति की ओर बढ़ रहे हैं। अधिकारी ने यह भी कहा कि किसान रथ ऐप ने व्यापारियों और किसानों के बीच लेन-देन को आसान बना दिया है। किसान रथ मोबाइल ऐप देशभर के किसानों और व्यापारियों को परिवहन से जोड़ने के लिए कृषि-उत्पाद के परिवहन की सुविधा प्रदान करता है। ऐप पर 8,000 से अधिक किसान और 7,000 व्यापारी रजिस्टर्ड हैं।

लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था अपने सबसे निचले चरण से गुजर रही है

इस तरह की घोषणाएं कोरोना वायरस संकट के बीच अच्छे का संकेत दे रही हैं क्योंकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 24 मार्च की आधी रात से देश में लाॅकडाउन लगा है। यह आगामी 3 मई तक रहेगा। ऐसे में इस लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था अपने सबसे निचले चरण से गुजर रही है। इस कोरोना वायरस ने अब तक पूरे भारत में करीब 886 लोगों की जान ले ली है। इस वायरस से करीब 21,000 से अधिक लोग संक्रमित हैं।

p { margin-bottom: 0.25cm; line-height: 120% }

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk