संवेदनशील इलाकों में जाकर निगम कर्मचारी दे रहे सोशल डिस्टेसिंग का डेमो

Meerut । एक तरफ जहां शहर में कोरोना का संक्त्रमण लगातार तेजी से अपने पांव पसारता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ शहर के लोगों से भी अब अपने घरों में रुका नही जा रहा है लॉक डाउन और रेड जोन मे होने के बाद भी शहर के लोग भरपूर लापरवाही दिखते हुए सड़कों और गलियों में जमघट लगाते हुए दिख रहे हैं। ऐसे में अब नगर निगम ने अपनी जिम्मेदारी को बढ़ाते हुए शहर के लोगों को खासतौर पर उन क्षेत्रों के लोगों को समझाने के लिए जहां लॉक डाउन में भी बाजार से लेकर मोहल्ले गुलजार हैं लाइव डेमो देना शुरु किया। यह लाइव डेमो निगम के सुपरवाइजर और सफाई नायकों द्वारा दिया जा रहा है जिसमें निगम के कर्मचारी लोगो का लॉक डाउन का पालन कराने के लिए जरुरी सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ पढ़ा रहे हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ

शहर के कई मोहल्ले व वार्ड ऐसे में जिनमें लॉक डाउन का कोई असर नही देखने को मिल रहा है सुबह और शाम के समय लोग अपने घरों गलियों के बाहर और बाजारों मे एकत्र हो जाते हैं। ऐसे में निगम के कर्मचारियों को भी संक्त्रमण का खतरा बढ़ता जिसको देखते हुए निगम के सफाई नायक खुद इन वार्ड व मोहल्लों के चौराहों व प्रमुख सड़कों पर सोशल डिस्टेसिंग का पाठ पढ़ा रहे हैं। इसके तहत बकायदा निशिचत दूरी पर खडे होकर सफाई नायक कोरोना संक्त्रमण के खतरे की गंभीरता से लेकर बचाव के तरीके और किस तरह कोरोना संक्त्रमण की चेन एक से दूसरे में फैलती है और उसको कैश हम सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करके तोड़ सकते हैं इस सबकी जानकारी दी जा रही है। निगम की यह क्लास सुबह के समय चलती है वह भी उन क्षेत्र में जहां पब्लिक नियमों को ताक पर रखकर बाहर घूमती दिखती है। इसके तहत शुक्त्रवार और शनिवार को सुभाष नगर और इमिलयान मस्जिद के पास डेमो दिया गया। जिसे देखकर स्थानीय लोगों ने काफी सराहना की।

वर्जन-

हम देख रहे हैं कि लोग लॉक डाउन के नियमों को बिल्कुल मान ही नही रहे हैं। बाजार में हर तरफ भीड लगी हुई है लोग सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना तो दूर बल्कि उलटा तोड़ने पर जुटे हुए हेैं ऐसे में हमारे सफाई नायक सोशल डिस्टेसिंग के तहत लोगों को समझाने का भी प्रयास कर रहे हैं भीड़ ना लगाओ और खुद को इस संक्त्रमण से बचाओ।

- सुनील मनोठिया, सुपरवाइजर

सफाई नायकों को यह कहा गया है कि खुद को सुरक्षित रखते हुए लोगों को भी जागरुक करें जहां लॉक डाउन का पालन ना दिखे वहां रंगोली बनाकर, स्लोगन लिखकर या अन्य तरीकों से लोगों को समझाएं।

- डा गजेंद्र सिंह, नगर स्वास्थ्य अधिकारी

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner