चेन्नई (आईएएनएस)। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के मुताबिक भारत के नए स्पाई सैटेलाइट रीसेट-2बीआर1 और नौ विदेशी उपग्रहों के प्रक्षेपण के लिए मंगलवार 4:40 बजे से उल्टी गिनती शुरू हो गई है। यह सैटेलाइट बुधवार की शाम आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपित किए जाएंगे। भारत के ध्रुवीय सैटेलाइट प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) के बुधवार को पहले लॉन्च पैड से दोपहर बाद 3:25 बजे प्रक्षेपित किए जाने की संभावना है।

रॉकेट वैरिएंट के लिए सेकेंड स्पेस ट्रिप

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो का कहना है कि उपग्रहों को पीएलएलवी-क्यूएल वैरिएंट द्वारा ले जाया जाएगा। रॉकेट में चार स्ट्रैप-ऑन मोटर्स होंगे। 11 दिसंबर की उड़ान इस रॉकेट वैरिएंट के लिए सेकेंड स्पेस ट्रिप होगी। इसरो ने अब तक 310 विदेशी उपग्रहों को कक्षा में प्रवेश कराया। ऐसे में अगर यह आज का मिशन सफल हुआ तो यह संख्या 319 हो जाएगी। इसके साथ ही कहा जा रहा है कि इससे दुश्मनों पर नजर रखना और ज्यादा आसान हो जाएगा।

कामर्शियल अरेजमेंट के तहत लॉन्चिंग

भारतीय सैटेलाइट अपने साथ जिन नौ छोटे उपग्रहों को ले जाएगा उनमें इजराइल, इटली, जापान का एक-एक और अमेरिका के छह सैटेलाइट शामिल होंगे। इन विदेशी उपग्रहों को न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड के साथ एक कामर्शियल अरेजमेंट के तहत लॉन्च किया जा रहा है।भारतीय सैटेलाइट को 576 किमी कक्षा में रखा जाएगा। खास बात यह है कि इसकी उम्र पांच साल होगी। रीसेट-2बीआर1 रडार इमेजिंग पृथ्वी स्पाई सैटेलाइट के रूप में लगभग 628 किलो वजनी है।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk