कानपुर। भारतीय खेल जगत के सितारों ने कोरोना महामारी से लडऩे के लिए काफी योगदान दिया है। हालांकि इनकी ये आर्थिक मदद अभी भी जारी है। सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली जैसे सुपरस्टार क्रिकेटरों से लेकर बॉक्सिंग और टेनिस के दिग्गज मैरी कॉम और सानिया मिर्जा जैसे खेल के खिलाड़ी देश को घातक वायरस के प्रसार को रोकने में मदद करने में लगे हैं। ये लोग जितना संभव हो सके, दान कर रहे।

अर्जुन ने दान में दिए 4 लाख रुपये

इस लिस्ट में अब युवा भारतीय गोल्फर अर्जुन भाटी का भी नाम जुड़ गया। हालांकि भाटी ने दान के लिए पैसे जिस तरह से जुटाए, वह काबिलेतारीफ है। अर्जुन ने कुल 4.30 लाख रुपये दान किए हैं लेकिन 15 वर्षीय ने एक कदम आगे बढ़कर सबसे बड़ा बलिदान दिया जो एक एथलीट कभी भी इस पैसे को बढ़ाने के लिए सोच सकता था। भाटी ने अपनी सभी ट्राफियां बेची दी। जिसमें 3 विश्व गोल्फ चैम्पियनशिप खिताब और राष्ट्रीय चैम्पियनशिप शामिल थे। उन्होंने नीलामी में मिलने वाली रकम को प्रधानमंत्री की नागरिक सहायता और आपातकालीन स्थिति (पीएम-केयर) फंड में दान कर दी।

बेच दी 102 ट्रॉफियां

ग्रेटर नोएडा के रहने वाले भाटी ने खुलासा किया कि उन्होंने पैसे जुटाने के लिए अपने सभी ट्रॉफी अपने रिश्तेदारों और अपने माता-पिता के दोस्तों को बेच दिए। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारा देश कठिन समय से गुजर रहा है, एक कठिन स्थिति पैदा हो गई है। मैं चाहूंगा कि आप सभी देश की मदद के लिए आगे आएं। जो भी क्षमता हो उसमें योगदान दें। भाटी ने ट्विटर पर इस बात की जानकारी दी। वह लिखते हैं, 'पिछले 8 वर्षों में, मैंने 102 ट्राफियां जीती थीं, मैंने इन्हें नीलाम कर दिया है अब मैंने पीएम-कार्स फंड में 4 लाख और 30 हजार रुपये का योगदान दिया है। मैं चाहूंगा कि हर कोई इसमें सहयोग करे।'

खेल मंत्री ने की तारीफ

अर्जुन ने आगे कहा, 'मैं कोविड -19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में अपना थोड़ा सा काम करना चाहता था। चूँकि मेरी खुद की कोई कमाई नहीं है, मैंने अपनी ट्राफियां बेचने का फैसला किया। ट्राफियां बाद में जीती जा सकती हैं, लेकिन जब मेरा देश जरूरतमंद हो तो मैं बेकार नहीं बैठ सकता। घातक बीमारी से लडऩे के लिए धनराशि। युवा गोल्फर का यह नेक काम देखकर खेल मंत्री किरण रिजिजू भी प्रभावित हुए। रिजिजू ने अर्जुन भाटी के ट्वीट पर रिप्लाई दिया कि, 'आपका सहयोग प्रशंसनीय है।'

कोरोना मरीजों की संख्या 5 हजार

देश में कोरोना वायरस की चपेट आए मामलों की संख्या बुधवार को 5 हजार पार हो गई है। केंद्रीय केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बुधवार तक 5,194 मामले सामने आ चुके हैं। सुबह 9 बजे तक फ्रेश डिटेल अपडेट में देश में कोरोना के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 149 हो गई है। वहीं सक्रिय मामले 4,643 है। 401 लोग ठीक हो गए और उन्हें छुट्टी दे दी गई। वही एक मरीज पलायन कर गया। कुल मामलों में 70 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। मंगलवार से 25 नई मौतें हुई हैं। इसमें महाराष्ट्र से सोलह मौतें हुईं है। दिल्ली, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और तमिलनाडु से दो-दो मौतें और आंध्र प्रदेश से एक मौत की सूचना आई है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

inext-banner
inext-banner