नई दिल्ली (पीटीआई)। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने सोमवार को कहा कि घोषित किए गए 3,000 केंद्रों के बजाय देश भर के 15,000 केंद्रों पर सीबीएसई द्वारा लंबित कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा आयोजित की जाएगी। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च को देशव्यापी लाॅकडाउन के कारण स्थगित की गई परीक्षाएं अब एक से 15 जुलाई के बीच होंगी। रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, कक्षा 10 और कक्षा 12 की परीक्षाएं अब पूरे भारत में 15,000 से अधिक परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जाएंगी। पहले सीबीएसई केवल 3,000 केंद्रों पर परीक्षा आयोजित कर रहा था। परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने और छात्रों के लिए यात्रा को कम करने के लिए यह निर्णय लिया गया है।

कंटेनमेंट जोन में कोई परीक्षा केंद्र नहीं होगा

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने पहले ही घोषणा कर दी है कि छात्र बाहरी परीक्षा केंद्रों के बजाय उन स्कूलों में परीक्षा के लिए उपस्थित होंगे जिनमें वे इनरोल्ड हैं। गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार कोरोना वायरस के चलते कंटेनमेंट जोन में कोई परीक्षा केंद्र नहीं होगा और छात्रों को उनके संबंधित केंद्रों तक पहुंचाने के लिए परिवहन व्यवस्था करने की जिम्मेदारी राज्यों की होगी। सीबीएसई कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा का मूल्यांकन घर से ही किया जा रहा है। कोरोना वायरस की वजह से देश भर के विश्वविद्यालयों और स्कूलों को 16 मार्च से बंद कर दिया गया है।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk