असलहा सप्लाई में गिरफ्तार दो युवकों में एक दरोगा का बेटा दूसरा कई कॉलेजों के मैनेजर का

PRAYAGRAJ: सोशल मीडिया पर तरह-तरह के असलहों के साथ तस्वीरें पोस्ट करने वाले शातिर असलहा तस्कर निकले. बडे़ परिवारों से ताल्लुक रखने वाले दोनों युवकों के पास पैसे की कोई कमी नहीं थी. शौक के चक्कर में वे बिगड़ गये. मंगलवार को यह खुलासा पुलिस ने दो शातिरों का चालान करके के बाद किया. इनकी निशानदेही पर 12 असलहे बरामद किये गये हैं.

एसपी सिटी बृजेश कुमार श्रीवास्तव व एसपी क्राइम आशुतोष मिश्र ने बताया कि एक का नाम नवील अहमद पुत्र सुहैल अहमद निवासी हरवारा धूमनगंज है. सुहैल अहमद बिहार के मधुबनी में दरोगा के पद पर तैनात हैं. दूसरे का नाम भाष्कर तिवारी पुत्र इंद्रदेव तिवारी है. वह साकेत नगर जयंतीपुर थाना धूमनगंज में रहता है. भाष्कर के पिता इंद्रदेव कौशाम्बी में दर्जनों इंटर कॉलेज व एक डिग्री कॉलेज के मालिक हैं. इनके कब्जे से पुलिस ने 12 देसी पिस्टल 32 बोर, चार जिंदा व एक खोखा कारतूस 32 बोर, एक मारुति कार बरामद की है. नवील अहमद पर शाहगंज में आधा दर्जन व भाष्कर पर धूमनगंज में पांच मुकदमे दर्ज हैं. दोनों ने पुलिस को बताया कि वह बिहार से 10 हजार रुपए में पिस्टल मंगाकर प्रयागराज, कौशाम्बी प्रतापगढ़ व फतेहपुर में 25 से 30 हजार रुपए में बेचा करते थे.

बॉक्स

हत्या का कर चुके थे प्रयास

कुछ दिन पूर्व नवील अहमद राजरूपपुर निवासी प्रशांत के घर गया था. प्रशांत का उसके पड़ोसी से विवाद हो गया था. प्रशांत के दुश्मन पर उसने जानलेवा फायरिंग की थी. संयोग से वह बच गया था. एक साल पूर्व उसने पकड़ी गई सियाज कार की बोनट पर बैठकर खुलेआम फायरिंग की थी. इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था. धूमनगंज में इन मामलों का मुकदमा दर्ज है.