- यूनिवर्सिटी ने शुरू की बीएससी इन योगा क्लासेस की तैयारी, वीसी ने प्रपोजल तैयार करके शासन को भेजा

- यूनिवर्सिटी प्रशासन ने शासन से बिल्िडग, फैकल्टी सृजन की डिमांड की, नए सेशन से शुरू हो सकती हैं क्लासेस

kanpur@inext.co.in

KANPUR: पूरी दुनिया को योग सिखाने वाले इंडिया में योग अब एजूकेशन का अहम पार्ट बनने जा रहा है. क्षत्रपति शाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट लेवल पर योगा की क्लासेस शुरू करने की तैयारी कर रहा है. वीसी ने इसका प्रपोजल बनाकर शासन को भेज भी दिया है. शासन से जैसे ही ग्रीन सिग्नल मिलेगा कोर्स शुरू करने का प्लान फाइनल कर दिया जाएगा. हालांकि योगा को अभी बतौर सब्जेक्ट तो यूजीसी की पहल पर शामिल कर लिया गया है लेकिन योगा की डिग्री वाला कोर्स पहली बार सीएसजेएमयू में शुरू किया जाएगा.

यूनिवर्सिटी में योगा एक्सपर्ट डेवलप होंगे

प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी ने योगा को इंटरनेशनल लेवल पर स्टेब्लिश कराने में अहम भूमिका निभाई है. भारत की ही पहल पर 21 जून को इंटरनेशनल योगा डे भी सेलिब्रेट किया जाता है. योगा के फायदे के बारे में तो सभी जानते हैं लेकिन योगा किस आसान को किस तरह और किस समय पर करना चाहिए, इसकी जानकारी नही है. योगा के एक्सप‌र्ट्स भी पर्याप्त संख्या में नहीं हैं. इसी को ध्यान में रखकर सीएसजेएमयू ने बीएससी इन योगा की क्लासेस शुरू कराने का प्लान बनाया है. अब इस प्लान को अमलीजामा पहनाने का कवायद शुरू कर दी गई है.

कैंपस में योगा की क्लासेस

यूथ फेस्टिवल में चीफ गेस्ट के रूप में आए डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा को यूनिवर्सिटी में बीएससी इन योगा की क्लासेस शुरू करने का प्रपोजल दिया गया था. इस प्रपोजल में बिल्डिंग व योगा टीचर की पोस्ट सृजित करने का भी प्रस्ताव है. शासन ने अगर इस प्रस्ताव को ग्रीन सिग्नल दे दिया तो फिर नये एकेडमिक सेशन से सीएसजेएमयू कैंपस में बीएससी इन योगा की क्लासेस शुरू कराई जा सकती हैं.

वर्जन

बीएससी इन योगा की क्लासेस यूनिवर्सिटी कैंपस में शुरू कराने का प्लान तैयार है. अभी तक किसी भी कैंपस में बीएससी इन योगा की क्लासेस नहीं चल रही हैं. दो हफ्ते पहले शासन को प्रपोजल भेजा जा चुका है. शासन से ग्रीन सिग्नल मिलते ही आगे का काम शुरू कर दिया जाएगा.

प्रो. नीलिमा गुप्ता, वाइस चांसलर सीएसजेएमयू