Meerut: पासपोर्ट बनाने की आड़ में शहर के साइबर कैफे अपनी मनमानी करने में जुटे हैं. साइबर कैफे संचालक लोगों से पासपोर्ट बनवाने के नाम पर मनचाही रकम वसूल रहे हैं.

 

वसूल रहे मनमाने दाम

शहर में कई साइबर कैफे ऐसे हैं, जो पासपोर्ट अप्लाई करने के लिए लोगों से अकाउंट से पैसा कटने और इंटरनेट चार्ज के नाम पर 500 रूपये तक वसूल रहे हैं, जबकि मान्य शुल्क सिर्फ 150 रूपये है. गौर करने लायक बात है कि एक पासपोर्ट अप्लाई करने में अकाउंट से 20 से 50 रूपये कटते हैं. यदि किसी का करंट अकाउंट है तो उसमें से 60 रूपये तक काटते हैं. बामुश्किल एक घंटा इंटरनेट यूज का चार्ज तकरीबन 60 रूपये होता है. जबकि पासपोर्ट अप्लाई करने के लिए 150 रूपये की मान्य शुल्क है. वहीं 1500 रुपये पासपोर्ट की फीस है.

 

एक पासपोर्ट अप्लाई करने के लिए 150 रूपये मान्य हैं, लेकिन साइबर कैफे संचालक लोगों को लूट रहे हैं.

रंजन सिंह, पासपोर्ट सहायक

 

मैंने अपने नजदीक साइबर कैफे से पासपोर्ट के लिए अप्लाई किया था. फार्म भरने के बाद जब मैंने पैसे पूछे तो साइबर कैफे वाले ने 1900 रूपये मांगे. जब मैंने उससे पूछा कि इतने पैसे कैसे हुए तो वह बोला कि 1500 रूपये पासपोर्ट फीस और 400 रूपये नेट व अप्लाई के फीस हैं.

विशाल शर्मा

 

साइबर कैफे वाले मनचाहे पैसे मांगते हैं. इन लोगों ने पूरा रेट का चार्ट तैयार कर रखा है. यदि कोई ज्यादा पासपोर्ट अप्लाई करता है तो यह उसको डिस्काउंट देते हैं. हमारे लिए कोई डिस्कांउट नहीं है.

जय प्रकाश

 

950 आवेदकों की पासपोर्ट प्रक्रिया पूरी

कैंट स्थित डाकघर में पासपोर्ट ऑफिस को बने एक माह से ज्यादा बीत चुका है. रोजाना कई लोग पासपोर्ट बनवाने के विषय में जानकारी लेने आते हैं. इसके साथ रोज 40 से 45 आवेदकों के पासपोर्ट बन रहे हैं. अधिकारियों की मानें तो अब तक तकरीबन 950 आवेदकों की पासपोर्ट प्रक्रिया पूरी हो गई है. जिन्हें बस पासपोर्ट आने का इंतजार है. तकरीबन 70 आवेदकों के पासपोर्ट उनके घर भी पहुंच गए हैं.

 

12 मई तक अप्वाइंटमेंट फुल

पासपोर्ट ऑफिस में 12 मई तक अप्वाइंटमेंट फुल हो गए हैं. पासपोर्ट सहायक रंजन सिंह ने बताया कि वे सभी 50 आवेदक जो अप्लाई करते है और किसी कारणवश नहीं पहुंच पाते है उनको भी कहीं एडजस्ट करके उनकी पासपोर्ट प्रक्रिया पूरी की जाती है. बाकी जैसे- जैसे लोग आते है पासपोर्ट प्रकिया पूरी की जाती है.