मुंबई / नई दिल्ली (एएनआई)। चक्रवात निसर्ग की वजह से महाराष्ट और गुजरात में प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। प्रशासन ने लोगाें को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाना शुरू कर दिया है। 3 जून को मुंबई के दक्षिण में लैंडफॉल होने की उम्मीद है। इसकी वजह से राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की कई टीमों को राज्य के विभिन्न स्थानों पर तैनात किया गया है। एनडीआरएफ की दो टीमों को पालघर में और तीन टीमों को मुंबई में तैनात किया गया है। ठाणे में एक, रत्नागिरी में एक और रायगढ़ में दो टीमों को तैनात किया गया है। राज्य सरकार ने इन जिलों के प्रशासन से सभी लोगों को किनारे से हटाकर राहत केंद्रों में स्थानांतरित करने के लिए कहा है।

2 जून दोपहर तक लगभग उत्तर की ओर बढ़ना शुरू हो जाएगा

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, पूर्व-मध्य और आसपास के दक्षिण-पूर्व अरब सागर पर डिप्रेशन पिछले 6 घंटों के दौरान 9 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया है। यह अगले 12 घंटों के दौरान एक डीप डिप्रेशन में बदल जाएगा और बाद के 24 घंटों के दौरान पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर एक साइक्लोनिक स्टॉर्म में तब्दील होने की संभावना है। ऐसे में आईएमडी ने अपनी सलाह में कहा है कि यह 2 जून दोपहर तक लगभग उत्तर की ओर बढ़ना शुरू हो जाएगा और उसके बाद उत्तर पूर्व की ओर बढ़ेगा और उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों को हरिहरेश्वर (रायगढ़, महाराष्ट्र) और दमन के बीच पार करेगा।

दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में बारिश होने की आशंका है

आईएमडी ने मछुआरों को अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण-पूर्व अरब सागर, लक्षद्वीप क्षेत्र और केरल तट पर और इसके साथ-साथ पूर्व-मध्य अरब सागर और कर्नाटक-गोवा तट, महाराष्ट्र तट और उत्तर-पूर्व अरब सागर के साथ और गुजरात तट पर न जाने की सलाह दी है। आईएमडी ने यह भी भविष्यवाणी की कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में अगले दो घंटों में बारिश होने की संभावना है। इस दाैरान बादल से छाए रहेंगे। 20 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चलने वाली आंधी और तेज हवाओं के साथ हरियाणा के करनाल, सोनीपत, पानीपत और उत्तर प्रदेश के शामली, बागपत, गाजियाबाद, मोदीनगर, मेरठ और आसपास के क्षेत्रों में बारिश होगी।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk