नंबरगेम

- रात 2 बजे घर में हुए दाखिल

- 5 घंटे तक घर में रहे मौजूद

- 2 लाख कैश ले गये

- लाखों की ज्वैलरी भी उड़ाई

- 72 घंटे में खुलासे का दिया अल्टीमेटम

- ज्वैलर्स के बुजुर्ग माता पिता को बनाया बंधक

- घर में खाया खाना और बनाई चाय

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : गोसाईगंज में बुधवार की देररात नकाबपोश असलहाधारी डकैतों ने एक ज्वैलर्स के घर व दुकान में डाका डाला. बदमाशों ने ज्वैलर्स के बुजुर्ग माता और पिता के साथ मारपीट कर उनको बंधक बना लिया. डकैत दुकान से दो लाख रुपये कैश और लाखों की ज्वैलरी लूट ले गए. गुरुवार सुबह डकैती की सूचना पर पुलिस और आलाधिकारी मौके पर पहुंचे गये. बदमाशों के सुराग और गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमें बनायी गई हैं.

बदमाशों ने रात दो बजे बोला धावा

एसपी ग्रामीण गोसाईगंज के खुर्दही बाजार में दया खंडेलवाल की शुभ शगुन ज्वैलर्स के नाम से शॉप है. दुकान से ही मिला हुआ उनका घर है. घर में दया खंडेलवाल के बुजुर्ग पिता बसंतलाल खंडेलवाल और मां विमला खंडेलवाल रहती हैं जबकि दया अपने परिवार के साथ लालबाग इलाके में रहते हैं. रोज की तरह बुधवार की शाम ज्वैलर्स ने अपनी दुकान बंद की और घर चले गए. रात करीब दो बजे के बीच नकाबपोश असलहाधारी बदमाशों ने ज्वैलर्स के घर पर धावा बोल दिया.

बुजुर्ग दंपत्ति को बनाया बंधक

बदमाश घर की दीवार में सेंध लगाकर अंदर घुसे. इसके बाद बदमाशों ने कमरे की खिड़की में लगी ग्रील निकाली और ज्वैलर्स के घर के अंदर दाखिल हो गए. इस बीच खटपट की आवाज सुन बसंतलाल और उनकी पत्नी विमला की आंख खुल गई. कमरे में नकाबपोश असलहाधारी बदमाशों को देखते ही बुजुर्ग दंपत्ति सहम गए. डकैतों ने दोनों को पकड़ लिया और असलहे के बल पर बंधक बना लिया.

पांच घंटे तक बदमाश रहे घर में

बसंतलाल और उनकी पत्नी विमला ने डकैतों का विरोध किया तो बदमाशों ने उनके साथ मारपीट की. इसके बाद बदमाशों ने बुजुर्ग दंपत्ति से दुकान में रखे लॉकर की चाभी मांगी. डर के चलते दंपत्ति ने बदमाशों को चाभी दे दी. इसके बाद कुछ बदमाश दुकान में घुस गए. बदमाशों ने दुकान के शो केस में लगी ज्वैलरी, आलमारी में रखी ज्वैलरी और दो लाख रुपये कैश बटोरे और भाग खड़े हुए. पांच घंटे तक बदमाश सर्राफ के घर और दुकान में मौजूद रहे. किसी को भनक तक नहीं लग सकी. तड़के जब बदमाश वहां से भाग निकले तो बुजुर्ग बसंतलाल ने बेटे दया खंडेलवाल को घटना की सूचना दी.

सुराग को लगाई गई कई टीम

पिता के फोन करने पर दया परिवार के अन्य लोगों के साथ खुर्दही बाजार स्थित अपने घर पहुंचे. घर और दुकान में डकैती की सूचना गोसाईगंज पुलिस को दी. सूचना पर एसएसपी कलानिधि नैथानी, क्राइम ब्रांच और एंटी डकैती सेल की टीम मौके पर पहुंच गई. मौके पर फिंगर प्रिंट यूनिट को भी बुलाया गया. छानबीन के बाद पुलिस ने इस मामले में दया खंडेलवाल की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली है. एसएसपी का कहना है कि पुलिस की कई टीमें बदमाशों की धर पकड़ के लिए लगाई गई हैं. उनका कहना है कि अभी बदमाशों की संख्या और लूट के माल के बारे में पीडि़त ने कुछ साफ नहीं किया है.

सीसीटीवी कैमरे में दिखे बदमाश

ज्वैलर्स दया खंडेलवाल की दुकान में चार सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों ने कुछ कैमरे के तार तोड़ दिये थे जबकि कुछ कैमरे सही मिले हैं. पुलिस ने जब कैमरों को चेक किया तो उसमें कुछ बदमाशों की फुटेज पुलिस को मिली. फुटेज में दिख रहे सभी बदमाशों के चेहरे गमछे से बंधे हुए थे. ऐसे में उनकी पहचान नहीं हो सकी. दुकान में रखे सीसीटीवी कैमरे के डीवीआर को भी नुकसान पहुंचाया गया है.

बाक्स

घर में खाना खाया और चाय भी बनाई

ज्वैलर्स के घर में डकैती की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों के हौसले काफी बुलंद थे. उनको किसी तरह का कोई डर नहीं था इसीलिए बदमाशों ने घर में रखा हुआ खाना खाया और चाय भी बनाकर पी. बदमाशों की इस हरकत का पता चलने के बाद पुलिस भी सन्न रह गई. पुलिस का मानना है कि घर में डकैती की घटना रेकी करने के बाद अंजाम दी गई है.

घर के सामने से हो रहा था सड़क का निर्माण

ज्वैलर्स दया खंडेलवाल के घर के सामने देररात सड़क निर्माण का काम चल रहा था. अब पुलिस को निर्माण काम में लगे मजदूरों पर भी शक है. पुलिस ने पूछताछ के लिए कुछ लोगों को हिरासत में भी ले लिया है. इसके अलावा गोसाईगंज पुलिस इस बात का भी पता लगा रही है कि ज्वैलर्स की दुकान में कौन कौन लोग काम करते हैं. वहीं घर में किन किन लोगों का आनाजाना है.

संदिग्ध नंबर खंगाले जा रहे

ज्वैलर्स के घर और दुकान में पड़ी डकैती के मामले में सर्विलांस सेल की टीम संदिग्ध नंबर्स के बारे में पता लगाने में जुटी है. सर्विलांस सेल की टीम घटनास्थल के पास लगे मोबाइल टावर की मदद से घटना के समय और उसके पहले काम करने वाले संदिग्ध मोबाइल नंबर की सूची तैयार कर रही है. पूरा रिकार्ड आने के बाद संदिग्ध नंबर की छंटनी शुरू की जाएगी.

72 घंटे में खुलासे की रखी मांग

ज्वैलर्स के घर और दुकान में पड़ी डकैती की खबर पाकर आर्दश व्यापार मंडल के पदाधिकारी ज्वैलर्स के घर पहुंचे. उन्होंने पीडि़त परिवार से बातचीत की. आर्दश व्यापार मंडल ने इस सनसनीखेज घटना का 72 घंटे में खुलासा करने की मांग रखी है. साथ ही इस बात की भी चेतावनी दी कि अगर समय सीमा के अंदर आरोपी माल समेत नहीं पकड़े गए तो संगठन सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करेगा.

जेल से रिहा डकैतों पर भी नजर

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि इस वारदात को पेशेवर बदमाशों ने अंजाम दिया है. इसलिए पुलिस राजधानी और उसके आसपास के जनपदों में पेशेवर बदमाशों के बारे में भी पता लगा रही है. इस बात की भी जानकारी जुटायी जा रही है कि हाल के दिनों में जेल से कौन कौन बदमाश रिहा हुए हैं.