पटेल नगर थाने की बाजार चौकी में शराबी को पकड़कर लाई थी पुलिस

पुलिस को बार-बार कॉल करने पर उठा लाए थे चौकी

DEHRADUN(14 July): पटेलनगर थाने की बाजार पुलिस चौकी में पुलिस द्वारा पकड़ कर लाए गए एक व्यक्ति की मौत हो गई. पुलिस के अनुसार वह बार-बार कंट्रोल रूम फोन कर अलग-अलग जगह बता सुबह से परेशान कर रहा था. शाम को नशे की हालत में थाने लाया गया. इसी दौरान उसने टॉयलेट जाने की बात कही. काफी देर तक वह टॉयलेट से बाहर नहीं निकला तो दरवाजा तोड़ा गया. युवक की शर्ट का कॉलर दरवाजे की कुंडी में फंसा था. तुरंत उसे हॉस्पिटल भेजा गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

सुबह से कर रहा नं. 100 पर कॉल

पुलिस द्वारा बताया गया कि चौकी लाने से पहले युवक लगातार कंट्रोल रूम में कॉल कर रहा था और खुद को मुसीबत में बता रहा था और गाली-गलौज भी कर रहा था. सुबह से ही उसकी कॉल कंट्रोल रूम में पहुंच रही थी. पुलिस द्वारा 8 घंटे की मशक्कत के बाद उसे खोजा गया और चौकी लाया गया. चौकी लाने के बाद वह टॉयलेट के बहाने गया और टॉयलेट के दरवाजे की कुंडी से शर्ट का फंदा बना कर दरवाजे पर लटक गया.

किराए पर रहता था युवक

मृतक जय माटा (40 वर्ष) पुत्र स्व. हरीश माटा निवासी पटेलनगर के रिश्तेदारों ने बताया कि माता पिता की मौत के बाद उसका अन्य रिश्तेदारों के यहां कम ही आना जाना होता था.

चौकी के इसी टॉयलेट में मिली लाश

चौकी इंचार्ज नरोत्तम बिष्ट खुद जय के घर पहुंचकर परिजनों को उसकी मौत के बताकर चौकी बुलाया. पुलिस ने परिजनों को पूरा वाकया बताया. परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम डेडबॉडी की मांग की, लेकिन पुलिस द्वारा पोस्टमार्टम के बाद ही बॉडी सौंपने की बात कही गई. तीन घंटे इंतजार करने के बाद जब परिजनों को बॉडी नहीं मिली तो वे घर लौट गए.

पुलिस चौकी में मौत पर अधिकारी खामोश

बाजार चौकी में व्यक्ति की मौत के बाद मामले को सुलझाने के लिए पटेलनगर थाना प्रभारी सूर्यभूषण नेगी व सीओ मसूरी बहादुर सिंह चौहान चौकी पहुंचे. लेकिन दोनों ही इस मामले पर कुछ कहने को तैयार नहीं थे.

नशे में था तो अस्पताल ले जाते

पुलिस कस्टडी में मौत पर जय माटा की बुआ के बेटे अमित ने बताया कि पुलिस को उसे शराब के नशे में होने पर अस्पताल ले जाना चाहिए था. चौकी में बैठाकर उसके साथ ऐसा क्या किया गया कि मौत हो गई.

कस्टडी में मौत की दूसरी घटना

दून पुलिस की कस्टडी में मौत की सात दिन में यह दूसरी घटना है, इससे पहले 9 जुलाई को एनडीपीएस के आरोपी जितेंद्र शाह ने सीजेएम कोर्ट की तीसरी मंजिल से छलांग लगा दी थी, इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई थी.

-----------

पुलिस चौकी में व्यक्ति की मौत मामले की हकीकत पोस्टमार्टम से सामने आएगी. विभागीय जांच भी शुरू करा दी गई है.

अजय रौतेला

डीआईजी