- चोरी के मामले में पुलिस ने छात्र को लिया था हिरासत में

-पुलिस बोली, छात्र ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

USNAGAR: पुलिस हिरासत में एक नाबालिग छात्र की मौत हो गई. छात्र को सिसौना में हुई चोरी के मामले में वेडनसडे को पूछताछ के लिए सिडकुल पुलिस चौकी लाया गया था. पुलिस मौत को आत्महत्या मान रही है जबकि छात्र के परिजन हत्या का आरोप लगा रहे हैं. ग्रामीणों के आक्रोश व हंगामे के चलते एसएसपी व एडीएम समेत भारी फोर्स सितारगंज पहुंच गया.

हवालात में लगाई फांसी

सिसौना में आठ-नौ जुलाई की रात हुई चोरी के मामले में सिडकुल चौकी पुलिस सिसौना निवासी धीरज सिंह राणा (17) पुत्र बृजेन्द्र सिंह राणा को पूछताछ के लिए वेडनसडे दोपहर सिसौना चौराहे से उठाकर लाई थी. उससे रात में पूछताछ की गई. थर्सडे को दिन में करीब दो बजे चौकी के हवालात में धीरज की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि धीरज ने शर्ट को उतारकर उसका फंदा बना लिया और हवालात की जाली में फंसा कर आत्महत्या कर ली. इस घटना के दौरान चौकी में दो पुलिस कर्मी मौजूद थे. घटना के दौरान क्षेत्र की कुछ महिलाएं समस्या ले कर आई थी. चौकी में मौजूद पुलिस कर्मी महिलाओं की बाते सुनने लगे थे. इसी दौरान धीरज ने फांसी लगा ली. वहीं, धीरज के परिजनों का कहना है कि पुलिस ने धीरज की हत्या कर दी है. पुलिस के टार्चर से उसकी मौत हुई है. हिरासत में मौत की खबर मिलते ही एसएसपी बरिंदरजीत सिंह समेत पूरे जिले का पुलिस महकमा सिडकुल चौकी पहुंच गया. एसडीएम मनीष बिष्ट की मौजूदगी में पंचनामा भरा और शव को पोस्टमार्टम के लिए रुद्रपुर भेजा गया. एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद चोरी के मामले में पूछताछ के लिए धीरज को पुलिस चौकी ले कर आई थी. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा. पुलिस कर्मियों की लापरवाही भी इसमें रही है. इसकी जांच कराई जाएगी.