यांगून (एपी)। म्यांमार के दक्षिण-पूर्वी इलाके में भूस्खलन से दर्जनों गांव के घर तबाह हो गए हैं। इस आपदा से मरने वालों की संख्या बढ़कर अब 56 हो गई है। बता दें कि भूस्खलन ने शुक्रवार को पांग टाउनशिप के एक गांव में दस्तक दी। इस सप्ताह के अंत में प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लेने वाले पांग के सांसद जॉ जॉ हटू ने कहा कि सोमवार सुबह तीन और शव बरामद किए गए हैं, जिसके बाद मरने वालों की संख्या अब 56 हो गई है। बता दें कि बाढ़ प्रभावित गांवों में से लोगों को निकालकर राहत केंदों में रखा गया है। संयक्त राष्ट्र ने बताया कि बाढ़ और भारी बारिश से पिछले सप्ताह तक 7,000 से अधिक लोग बेघर हो गए थे।
म्यांमार में भूस्खलन से अब तक 56 लोगों की गई जान,7,000 से अधिक बेघर
म्यांमार में जेड माइन में भूस्खलन से 18 की मौत

लापता लोगों की तलाश में जुटे बचावकर्मी
बता दें कि पांग में भूस्खलन के बाद कई मकानें और स्कूल की इमारतें ध्वस्त हो गईं हैं, कई सड़कों को बंद करना पड़ा है और गांव नदियों में तब्दील हो गया है। यूएन ने बताया कि 38,000 से अधिक लोगों को राहत केंद्रों में रखा गया है। इसके अलावा म्यांमार में कई लोगों के लापता होने की भी सूचना है। हालांकि, उनके आकड़ें जारी नहीं किये गए हैं। अधिकारियों ने बताया कि बचावकर्मी उनकी तलाश में जुटे हैं। म्यांमार के पांग, मावलमीइन, मुदोन, थान्बुजायत, क्यिकमारवा और ये शहर भारी बाढ़ से प्रभावित हैं। ब्रिगेडियर जनरल ज़ॉ मिन ट्यून ने बताया कि सेना के जवान आपदा क्षेत्रों में खोज और बचाव प्रक्रिया में मदद करने के लिए काम कर रहे हैं। हेलिकॉप्टरों का उपयोग भोजन की आपूर्ति के लिए किया जाएगा।
म्यांमार में भूस्खलन से अब तक 56 लोगों की गई जान,7,000 से अधिक बेघर

International News inextlive from World News Desk