नई दिल्ली (एएनआई)। Delhi Assembly Election 2020 राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए शनिवार को सुबह 8 बजे मतदान शुरू हो गया है। मतदान शाम छह बजे तक जारी रहेगा। मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी लाइन लगी है। राजधानी के मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए। खासकर शाहीन बाग जैसे इलाके जहां पर सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा है उन पर पैनी नजर बनी है। चप्पे-चप्पे सुरक्षा कर्मी तैनात हैं। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) की 190 कंपनियों को सुरक्षा उपायों के तहत तैनात किया गया है। इस बार 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान तैनात सीएपीएफ कर्मियों की संख्या लगभग चार गुना है।

1,47,86,382 वोटर करेंगे 600 से अधिक प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला

राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली में 2,689 स्थानों पर 13,750 मतदान केंद्र बनाएं गए हैं। इस बार महत्वपूर्ण मतदान केंद्रों में 516 स्थान और 3,704 बूथ शामिल हैं। दिल्ली के विधानसभा चुनाव में कुल 1,47,86,382 मतदाता है। इसमें 18 से 19 आयु वर्ग के 2,32,815 शामिल हैं। 1.47 करोड़ से अधिक मतदाताओं में 81,05,236 मेल वोटर, 66,80,277 फीमेल वोटर, 11,608 सर्विस वोटर, 869 थर्ड जेंडर वाेटर और 2,04,830 सीनियर सिटीजन वोटर (80 वर्ष और उससे अधिक) ) शामिल हैं।

दिल्ली में आप, भाजपा और कांग्रेस के बीच दिख रहा है त्रिकोणीय मुकाबला

राजधानी दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी, भाजपा और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली आम आदमी पार्टी ने पिछले विधानसभा चुनावों में भाजपा को पीछे छोड़ते हुए भारी बहुमत से जीत हासिल की थी। आप ने जहां 67 सीटें, वहीं बीजेपी ने 3 सीटों पर जीत हासिल की थी। कांग्रेस ने अपना खाता नहीं खोला था। आप लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए सत्ता बरकरार रखने की उम्मीद कर रही है। इसी तरह पीएम की लोकप्रियता को भुनाकर भाजपा बहुमत हासिल करने की उम्मीद कर रही है।

Posted By: Shweta Mishra