निर्देशों के बावजूद सरकारी विभाग नहीं बरत रहे एहतियात

जिला मलेरिया व स्वास्थ्य विभाग ने कसी कमर, प्रशासन को भेजा प्रस्ताव

Meerut. डेंगू का लार्वा पालने वाले सरकारी दफ्तरों और घरों की अब खैर नहीं होगी. अगर नोटिस के बाद भी डेंगू का लार्वा मिलता है तो विभाग सीधे एफआईआर दर्ज कराएगा. स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए प्रस्ताव बनाकर प्रशासन को भेज दिया है. मंजूरी मिलते ही इसे लागू भी कर दिया जाएगा. इसके अलावा डेंगू के मरीजों का रिकार्ड छुपाना डॉक्टर्स व अस्पतालों के लिए महंगा होगा.

तीसरे नोटिस पर सीधे कार्रवाई

विभागाधिकारियों के मुताबिक डेंगू लार्वा की चेकिंग को लेकर पहली बार नोटिस जारी किए जा रहे हैं. दूसरी बार में जुर्माना किया जाएगा जबकि तीसरी बार लार्वा मिलने पर 188 एक्ट के तहत एफआईआर की जाएगी.

ये गाइडलाइन होंगी फॉलो

डेंगू के मरीजों की जानकारी सीएमओ के रूम नंबर 108 में दी जाएगी.

7838130857 नंबर पर व्हाट्सऐप के जरिए भी सूचना दी जा सकती है.

सभी विभागों में डेंगू रोकथाम की शपथ दिलवाई गई थी. सभी विभागों को गाइडलाइन भी जारी कर दी गई थी. डेंगू से बचाव के लिए विभाग हर जरूरी कार्रवाई कर रहा है.

डॉ. राजकुमार, सीएमओ, मेरठ.

कचहरी में चला अभियान

जिला मलेरिया अधिकारी मेरठ की टीम ने कचहरी परिसर में लार्वा चेकिंग अभियान चलाया. इस दौरान अपर जिला अधिकारी नगर, मुख्य कोषाधिकारी मेरठ और जिला निर्वाचन अधिकारी मेरठ कार्यालय में भारी संख्या में लार्वा पाया गया. जिसके बाद टीम ने सभी को नोटिस जारी कर दिए. इसके अलावा जेल परिसर में दो जगह लार्वा पाया गया. वहां भी टीम ने नोटिस जारी कर दिए. मीनाक्षी पुरम कॉलोनी भी में एक आवास में लार्वा पाया गया. जिसे नष्ट कर नोटिस जारी किया गया.