-काशी विश्वनाथ मंदिर में सावन के पहले दिन कांवडि़यों के साथ श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी

- चन्द्र ग्रहण खत्म होने के बाद गंगा स्नान कर बाबा का किया दर्शन

varanasi@inext.co.in
VARANASI : चंद ग्रहण खत्म होने के बाद आस्थावानों ने गंगा स्नान के बाद श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में हाजिरी लगाकर बाबा का दर्शन किया. मंदिर जाने वाले चारों मार्गो पर सुबह से रात तक कांवडि़यों की लाइन लगी रही.

घाटों पर रही भीड़
काशी विश्वनाथ मंदिर में भीड़ के साथ सावन के पहले दिन का आगाज हुआ. भोर में गंगा घाट पर इतनी अधिक भीड़ हो गई थी कि वहां पर दो कदम चलना मुश्किल था. कांवडि़यों के साथ चन्द्र ग्रहण के बाद गंगा स्नान करने वाले श्रद्धालु एक साथ जमा हो गये थे. इसके चलते ही अधिक भीड़ हो गई थी. भक्तों की सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ और पुलिस की तैनाती की गई थी. गंगा स्नान के बाद भक्तों ने गरीबों को दान किया और फिर महादेव का दर्शन करने के लिए लाइन में लग गये थे. दोपहर बाद कतार छोटी हुई.

 

 

चार लाख भक्त कर सकेंगे पूजन
काशी विश्वनाथ मंदिर में अब चार लाख से अधिक श्रद्धालु आसानी से बाबा के दर्शन पूजन कर सकेंगे. इसके लिए काशी विश्वनाथ मंदिर के सभी प्रवेशद्वारों पर विशेष पात्र लगाया गया है, जो झांकी दर्शन के साथ ही वहीं पर जल व दूध पात्र में डाला जाएगा जो बाबा के अरघे में गिरेगा.

 

 

करेंगे जलाभिषेक, निकलेगी शोभायात्रा
चंद्रवंशी गोप सेवा समिति की ओर से पहले सोमवार को बाबा विश्वनाथ मंदिर सहित कुल नौ शिवालयों का दर्शन-पूजन किया जाएगा. जलाभिषेक के दौरान एक शोभायात्रा भी निकाली जाएगी.