- सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में की पूजा-अर्चना

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR:   मंदिर में मंत्रोच्चार के बीच रुद्राभिषेक के बाद सीएम लखनऊ के लिए रवाना हो गए. सावन के महीने के पहले दिन बुधवार को महादेव झारखंडी, मुक्तेश्वरनाथ, गोरखनाथ सहित कई शिव मंदिरों में सुबह से हर-हर महादेव की गूंज सुनाई पड़ी. लोग अपने आराध्य और देवों के देव महादेव को जल के साथ-साथ भांग, धतूरा, सफेद फूल सहित कई प्रकार की पूजा सामग्रियां चढ़ा रहे थे. सावन को देखते हुए इस बार गोरखपुर में प्रशासन और पुलिस ने खास इंतजाम किए थे.

22 जुलाई को श्रावण कृष्ण पंचमी
शिवालयों की साफ-सफाई का काम मंगलवार को ही पूरा हो गया था. शिवालयों पर सुबह से कर्मचारियों की तैनाती रही, ताकि कहीं कोई दिक्कत न होने पाए. हिन्दू मान्यताओं के अनुसार इस साल सावन में कई शुभ संयोग बन रहे हैं. 22 जुलाई को सावन का पहला सोमवार पड़ रहा है. उस दिन श्रावण कृष्ण पंचमी है. दूसरे सोमवार को त्रयोदशी प्रदोष व्रत के साथ ही सर्वार्थ सिद्धी योग है. तीसरे सोमवार पर नागपंचमी का शुभयोग है, जो बहुत भाग्यशाली माना जाता है. अंतिम सोमवार को त्रयोदशी तिथि का शुभ संयोग है.