डीजीपी ने कहा एडीजी, आईजी व डीआईजी कुम्भ का आयोजन सफल बनाने में रहा महत्वपूर्ण योगदान

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुम्भ मेले को वैसे तो सफल बनाने में सभी का योगदान रहा है लेकिन खासतौर पर इसे एडीजी एसएन साबत, आईजी मोहित अग्रवाल व डीआईजी कुम्भ कविन्द्र प्रताप सिंह ने कुशल नेतृत्व से सम्पन्न कराया है. एडीजी की नेतृत्व क्षमता ने यह साबित कर दिखाया कि आयोजन कितना भी बड़ा हो, उसे किस प्रकार से सफल बनाया जा सकता है. ये बातें प्रदेश पुलिस के मुखिया ओम प्रकाश सिंह ने कहीं. वह दो दिन के दौरे पर प्रयागराज आए थे. शनिवार को उन्होंने अलकनंदा सभागार में समस्त पुलिस अधिकारियों संग बैठक की और पीएम दौरे व आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए कई दिशा निर्देश भी दिए. इसके बाद वह कई कार्यक्रमों में शमिल हुए. शाम वह पुलिस लाइंस से लखनऊ के लिए रवाना हो गए.

सम्मान समारोह में शामिल हुए

अलकनंदा सभागार में सम्मान कार्यक्रम का आयोजन हुआ. डीजीपी ओपी सिंह ने कुम्भ मेले के दौरान पुलिस मित्र का काम करने वाले तमाम बच्चों को प्रस्तुति पत्र देकर उनका सम्मान कर उन्हें धन्यवाद दिया. डीजीपी ने सम्मानित हुए पुलिस मित्रों से कहा कि जिस प्रकार से उन्होंने मेले में आए श्रद्धालुओं, साधु संतों के सामने पुलिस की एक अच्छी छवि को पेश किया यह अत्यंत ही सराहनीय कार्य था. इससे पूरी दुनिया में पुलिस के कार्यो का एक अच्छा मैसेज गया. जिसकी सभी प्रशंसा कर रहे हैं. इस दौरान डीजीपी ने मेले के दौरान ब्लड डोनेट करने वाले पुलिस कर्मियों को उनके इस सराहनीय कार्य के लिए प्रशंसा करते हुए प्रस्तुति पत्र दिए.

चुनौतियों को कुशलता के किया फेस

कुम्भ मेले के सफल आयोजन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि एडीजी समेत अन्य उच्चाधिकारियों ने अपनी नेतृत्व क्षमता का परिचय दिया है. कई बार ऐसा भी समय आया जब देश में आंतकवादी घटनाओं के चलते पुलिस अधिकारियों को चुनौती का सामना करना पड़ा. इसमें भी वे सफल रहे. इसके साथ ही पुलिस कर्मियों ने अपने आचरण का अच्छा परिचय देते हुए पुलिस विभाग का आम जनता के बीच एक सम्मान बढ़ाया, यह भी एक सराहनीय कार्य रहा है. उन्होंने यह भी बताया कि कुम्भ मेले को एक प्रयोगशाला के रूप में बनाया गया था. बेहतर मैनेजमेंट के लिए एमएनआईटी, आईआईटी समेत कई अन्य एजेंसियों की मदद ली गई. अंत में उन्होंने यह भी कहा कि वह सरकार से वर्तालाप कर मेले में तैनात पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए कुम्भ मेला मेडल के लिए बात करेंगे.