बलरामपुर से गुम हुई दो छात्राओं के साथ लेकर वापस जा रही थी पुलिस

ALLAHABAD: कक्षा नौ में पढ़ने वाली दो छात्राओं को एक ढोंगी बाबा ने प्रसाद में नशीला पदार्थ खिलाया और बेसुध हो गई तो उन्हें लेकर वे बलरामपुर के गोरा थाना क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति के यहां झाड़ फूंक करने पहुंच गया. यहां नशे में वह छत से गिर पड़ा. घायल बाबा को खोजते हुए पहुंची झारखण्ड ने उसे वहां छात्राओं संग हिरासत में लिया और लौटने लगी. संयोग से सोरांव थाना क्षेत्र में घायल बाबा की सांसें थम गईं. सोरांव पुलिस ने बाबा के शव को कब्जे में ले लिया.

छानबीन में जुटी रही सोरांव पुलिस

पुलिस के मुताबिक बाबा झारखण्ड का ही है. झारखण्ड के संडवा जिले के समशेर खान की दो बेटियां सायरा खातून और सना खातून कक्षा नौ की छात्रा हैं. स्कूल से घर लौटते समय बाबा ने दोनों को प्रसाद में नशीला पदार्थ खिला दिया. बेहोश होने के बाद वे दोनों को लेकर बलरामपुर रेलवे स्टेशन पहुंचा. स्टेशन पर उसकी मुलाकात एक यादव बिरादरी के परेशान व्यक्ति से हुई. बाबा उसे झाड़-फूंक से समस्या समाप्त करने का झांसा देते हुए छात्राओं को लेकर उसके यहां जा पहुंचा. यादव के यहां रात में उसने शराब पी. नशे में वे छत से गिर पड़ा तो यादव परिवार ने उसे वहां अस्पताल में भर्ती करा दिया. उधर, समशेर खान की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर झारखण्ड पुलिस दोनों छात्राओं की तलाश में थी. खोजते हुए झारखण्ड पुलिस बलरामपुर जा पहुंची. वहां पता चला कि एक बाबा दो बालिकाओं के साथ अस्पताल में भर्ती है. अस्पताल पहुंची पुलिस छात्राओं संग बाबा को कस्टडी में लेकर झारखण्ड लौट रही थी. सोरांव थाना क्षेत्र में पहुंचते ही बाबा की सांसें थम गई. इस पर झारखण्ड पुलिस उसे सोरांव सीएचसी ले गई. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.