मेनेजेस 13 साल से डियाजियो में
मेनेजेस पिछले 13 साल से डियाजियो के ब्रिटेन स्थित मुख्यालय में कामकाज संभाल रहे हैं. डियाजियो ने एक बयान में कहा कि एक जुलाई से सीईओ पद पर प्रमोट हुए मेनेजेस के मूल वेतन में 8.6 फीसद की वृद्धि हुई. उनका मूल वेतन बढक़र 10 लाख पौंड (9.6 करोड़ रुपये) हो गया. इसके अलावा उन्हें 99 लाख पौंड (95 करोड़ रुपये) के अन्य लाभ हासिल होंगे.

विजय माल्या की कंपनी में भी हिस्सेदारी
जॉनी वाकर, स्मिरिनॉफ, बैलीज और गिनीज जैसे जाने-माने ब्रांड की बिक्री करने वाली इस कंपनी ने विजय माल्या के नेतृत्व वाली यूनाइटेड स्प्रिट्स की बड़ी हिस्सेदारी दो अरब डॉलर में खरीदी है. 53 वर्षीय मेनेजेस ने इस सौदे में अहम भूमिका निभाई है. मेनेजेस ने दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज और आइआइएम अहमदाबाद के अलावा अमेरिका केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से शिक्षा हासिल की.

नेस्ले, एलन हेमिल्टन और वर्लपूल में भी कर चुके हैं काम
डियाजियो से पहले वह नेस्ले, एलन हेमिल्टन और वर्लपूल जैसी कंपनियों में ऊंचे पदों पर काम कर चुके हैं. कंपनी ने कहा कि सीईओ पद पर नए होने के कारण मेनेजेस का मूल वेतन कम है लेकिन उनका कुल पैकेज भारत या अन्य देशों में विभिन्न सीईओ के औसत वेतन से ज्यादा है.
इनकी सेलरी 105 करोड़ रुपये,दुनिया में और भी हैं इंडिया बॉर्न ceo
और भी हैं इंडिया बॉर्न सीईओ
इनके अलावा और भी दिग्गज हैं जिन्होंने मल्टी नेशनल कंपनियों की कमान सफलतापूर्वक संभाली है या संभाल रहे हैं. अपनी मेहनल और उद्यमशीलता के दम पर इन लोगों ने दुनिया के बिजनेस को एक नई परिभाषा दी और दिखाया कि भारतीय कहीं से कमतर नहीं हैं.
1- Anshu Jain, Co-CEO, deutsche bank, since 2012
2- Indra Nooyi, CEO, Pepsico, since 2006
3- Vikram Pandit, CEO, Citibank, 2007 to 2012
4- Arun Sarin, CEO, Vodafone, 2003 to 2008

Business News inextlive from Business News Desk