सैन फ्रांसिस्को (रॉयटर्स)। अमेरिका के सोशल लीडर मार्टिन लूथर किंग की बेटी बर्नीस किंग ने गुरुवार को कहा कि दुष्प्रचार की वजह से उनके पिता की हत्या कर दी गई थी। बता दें कि बर्नीस का यह बयान तब आया जब फेसबुक के प्रमुख ने कहा कि सोशल मीडिया को राजनीतिक विज्ञापनों की जांच नहीं करनी चाहिए। दरअसल, इन दिनों फेसबुक को राजनीतिक विज्ञापनों और भाषण के लिए काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। इस मसले पर गुरुवार को फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने खुद का बचाव किया और अपने भाषण में दो बार मार्टिन लूथर किंग का जिक्र किया।

दुष्प्रचार ने बनाया हत्या का माहौल

किंग की बेटी ने ट्विटर पर बताया कि उन्होंने जुकरबर्ग का भाषण सुना। इसकी प्रतिक्रिया में उन्होंने लिखा, 'मैं फेसबुक को राजनेताओं द्वारा शुरू किए गए दुष्प्रचार अभियानों की उन चुनौतियों को बेहतर ढंग से समझाने में मदद करना चाहती हूं, जिनका मार्टिन लूथर किंग को सामना करना पड़ा था। इन अभियानों ने उनकी हत्या के लिए एक माहौल बना दिया था।' बता दें कि 4 अप्रैल, 1968 को टेनेसी के मेम्फिस में किंग की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

विदेशी युवती से फेसबुक पर दोस्ती में गंवाए 30 हजार रुपये

लोगों को तय करना है क्या है विश्वसनीय

किंग की बेटी के बाद फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा, 'तकनीकी कंपनियों को नहीं बल्कि लोगों को यह तय करना चाहिए कि क्या विश्वसनीय है। हम हमारे साथ मिलकर काम करने के लिए किंग की बेटी के ऑफर की बहुत सराहना करते हैं। उसका दृष्टिकोण अमूल्य है और हम जिसका गहरा सम्मान करते हैं। हम अगले हफ्ते मेनलो पार्क में उनके साथ इस महत्वपूर्ण बातचीत को जारी रखने के लिए उत्सुक हैं।'

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk