लखनऊ (ब्यूरो)। Ayodhya Case Verdict 2019: अयोध्या मामले को लेकर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर शासन पूरी तरह से एक्टिव मोड में आ गया है। जहां जिलाधिकारियों को अप्रिय स्थिति में अफवाह फैलने से रोकने के लिये इंटरनेट सेवा को बंद कराने का अधिकार दिया गया है वहीं, अयोध्या के बाद इससे सटे जिले अंबेडकरनगर में 8 कॉलेजों में अस्थायी जेल बनाई गई हैं। सुरक्षा के लिये 35 कंपनी पीएसी व सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्सेज को रवाना किया गया है।

अफवाह रोकने के लिये उठा सकेंगे कदम

अयोध्या मामले में अगले सप्ताह सुप्रीम कोर्ट द्वारा फैसला सुनाए जाने की संभावना है। ऐसे में उसके बाद प्रदेश में उत्पन्न होने वाली कानून-व्यवस्था की स्थिति से निपटने के लिये शासन व्यापक तैयारियां कर रहा है। बताया गया इसी क्रम में जिलाधिकारियों को किसी अप्रिय स्थिति में अफवाहों को रोकने के लिये इंटरनेट सेवा बंद कराने का अधिकार दिया गया है। इतना ही नहीं, सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिये सभी जिलों की पुलिस को मॉनीटरिंग के लिये स्पेशल टीम बनाने को कहा गया है।

सुरक्षा के लिये भेजी गई फोर्स

आईजी लॉ एंड ऑर्डर प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि अयोध्या में सुरक्षा के लिये 34 कंपनी पीएसी, 15 कंपनी सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स पहले से तैनात है। वहीं, सुरक्षा व्यवस्था को और भी पुख्ता करने के लिये 35 कंपनी पीएसी व सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स को भेजा गया है। इसके अलावा प्रयागराज व वाराणसी जोन से भी फोर्स मंगाई गई है। शासन को आशंका है कि फैसले के बाद अयोध्या में अचानक भीड़ बढ़ सकती है। यह भीड़ अगर अराजक हो जाए तो उसे बंद करने के लिये अयोध्या से सटे अंबेडकर नगर में भी 8 अस्थायी जेलों का निर्माण किया गया है। यह सभी जेल कॉलेजों में बनाई गई हैं। इनमें अकबरपुर थाना क्षेत्र में तीन, टांडा, जलालपुर, जैतपुर, भीटी व आलापुर में एक-एक कॉलेज को अस्थायी जेल में परिवर्तित कर दिया गया है।

संवेदनशील जिलों में भी भेजी जा रही फोर्स

प्रदेश के मिश्रित आबादी वाले 17 जिलों को संवेदनशील के रूप में चिन्हित किया गया है। इन जिलों में कानपुर नगर, बहराइच, श्रावस्ती, गोंडा, अलीगढ़, मेरठ शामिल हैं। इन जिलों में खुफिया एजेंसियां लगातार अपनी नजर रख रही हैं। इन सभी जिलों से फोर्स की डिमांड मांगी गई थी। जो कि, डीजीपी मुख्यालय को मिल गई है। शुक्रवार को डिमांड के मुताबिक फोर्स अलॉट करने की कवायद शुरू कर दी जाएगी।

फैक्ट फाइल

- सुरक्षा व्यवस्था को और भी पुख्ता करने के लिये 35 कंपनी पीएसी व सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स को भेजा गया।

- अयोध्या में सुरक्षा के लिये 34 कंपनी पीएसी, 15 कंपनी सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स पहले से तैनात।

- अंबेडकरनगर में भी 8 कॉलेजों में बनाई गई अस्थायी जेल

- 17 जिलों को संवेदनशील के रूप में चिन्हित किया गया।

lucknow@inext.co.in

 

Posted By: Inextlive

National News inextlive from India News Desk