allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: छात्रसंघ भवन पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष विनोद चन्द्र दूबे के आह्वान पर पूर्व अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और अन्य पदाधिकारियों की बैठक हुई. बैठक में विश्वविद्यालय के कुलपति की तानाशाही, नियुक्तियों में अनियमितता, छात्रसंघ पदाधिकारियों पर लाठीचार्ज और संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करके जेल भेजे जाने, छात्रों को अलग-अलग जेलों में रखे जाने आदि मुद्दों पर चर्चा हुई.

छात्रों की छवि कर रहे खराब

पूर्व अध्यक्षों ने लाठीचार्ज की कड़ी निन्दा की और इस बात पर एकमत हुए कि प्रशासन छात्रों के साथ अपराधियों की तरह व्यवहार कर रहा है. ये अन्यायपूर्ण है. सबने कुलपति हटाओ आन्दोलन का शंखनाद करने की बात कही. क्योंकि कुलपति लगातार छात्रसंघ की अस्मिता पर प्रहार कर रहे हैं. बैठक में आरपार के आन्दोलन की रणनीति बनी. रविवार दोपहर में सभी महाविद्यालयों के छात्रनेताओं की बैठक बुलाई गयी है और शाम को बड़ा कैंडल मार्च निकाला जाएगा. सभी ने लड़ाई को अंतिम सांस तक लड़ने का निश्चय किया है. बैठक में पूर्व अध्यक्ष सुभाष त्रिपाठी, केके राय, कृष्ण मूर्ति सिंह यादव, संजय तिवारी, हेमंत टिन्नू, अजीत यादव, भूपेंद्र सिंह यादव, ऋचा सिंह, रोहित मिश्रा, विक्रांत सिंह, आदिल हमजा, अखिलेश गुप्ता, राघवेंद्र यादव, आनंद सिंह निक्कू, अजीत विधायक, अरविंद सरोज, नीरज प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे.