क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: राज्य के सबसे बड़े सरकारी हॉस्पिटल रिम्स में इलाज कराने के लिए हजारों मरीज आते हैं. लेकिन जूनियर डॉक्टरों की गुंडागर्दी कम होने का नाम नहीं ले रही है. यही वजह है कि शनिवार को भी जूनियर डॉक्टरों ने मरीज की मौत का कारण पूछने पर परिजनों की धुलाई कर दी. इतना ही नहीं, वे परिजनों को तबतक पीटते रहे जबतक कि उनकी हालत खराब नहीं हो गई. इससे यह तो साफ हो गया है कि अगर आप रिम्स में इलाज कराने जा रहे हैं तो अपने मुंह पर ताला लगा लें. नहीं तो इलाज के दौरान मुंह खोलना आपको भारी पड़ सकता है.

कब तक चलेगी गुंडागर्दी

ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर कब तक रिम्स में इलाज कराने वाले मरीजों को जूनियर डॉक्टरों की गुंडागर्दी झेलनी पड़ेगी? इस मामले में रिम्स के डिप्टी डायरेक्टर और सुपरिंटेंडेंट से कांटैक्ट करने की कोशिश की, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया.

........

क्या कहते हैं मरीज व परिजन

डॉक्टरों का इस तरह का बिहेवियर नहीं होना चाहिए. अगर उन्हें हमलोगों से परेशानी थी तो गार्ड या जवानों को बोलकर हटा सकते थे. लेकिन इस तरह बर्बरता से पिटाई करना डॉक्टरों को शोभा नहीं देता. आजतक इस तरह से डॉक्टरों का रूप नहीं देखा था.

जाबिर हुसैन

इलाज कराने आए हैं और डॉक्टर साहब से कुछ पूछने पर डांट देते हैं. कुछ लोगों को तो भगा भी दिया जाता है. आखिर मरीज के बारे में हम किससे पूछताछ करेंगे. अगर कुछ पूछेंगे नहीं तो पता कैसे चलेगा. डॉक्टर को मरीज और परिजनों के साथ अच्छे से बात करनी चाहिए.

उमेश मोदक

........

केस-1

इलाज करने को कहा तो दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

तीन सितंबर को एक व्यक्ति को गोली लगने के बाद परिजन लेकर इमरजेंसी पहुंचे थे. जहां परिजनों ने जल्दी इलाज करने को कहा तो डॉक्टर ने उसे दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. इसके बाद जांच कमिटी भी गठित की गई, जिसमें ड्यूटी पर तैनात गार्ड को ही दोषी बना दिया गया.

केस-2

सिर दर्द से परेशान महिला पर डॉक्टर ने छोड़ा हाथ

सात सितंबर को एक महिला सिर दर्द की शिकायत लेकर रिम्स पहुंची. जहां डॉक्टरों ने उसकी बातों को अनसुना किया और नौटंकी बता दिया. इसके बाद जब महिला ने कहा कि उसके सिर में काफी दर्द है तो ड्यूटी में तैनात डॉक्टर ने उस पर हाथ छोड़ दिया.

केस-3

मौत का कारण पूछा तो परिजनों को पीट डाला

पुंदाग के वाहिद अंसारी को इलाज के लिए रिम्स में भर्ती कराया गया था. इस दौरान शनिवार देर शाम उसकी मौत हो गई. इस पर परिजनों ने डॉक्टर से मौत का कारण पूछा और दोबारा चेक करने की बात कहीं. इसके बाद डॉक्टर गुस्सा गए और परिजनों को पीट डाला.