आगरा (ब्यूरो)अमेरिकी प्रेसीडेंट पत्नी मेलानिया, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनर के साथ अहमदाबाद से आगरा पहुंचे थे। खेरिया एयरपोर्ट पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्रंप का स्वागत किया। इस दौरान ट्रंप और उनके परिवार का सैकड़ों कलाकारों ने लोक नृत्य के साथ स्वागत किया। मयूर नृत्य, धोबिया नृत्य, पाईडंडा, राई नृत्य के कलाकारों के आकर्षक नृत्य ने प्रेसीडेंट ट्रंप का मन मोह लिया। अमेरिकी प्रेसीडेंट ने भी तालियां बजाकर कलाकारों की हौसला-आफजाई की।

कराया फोटो शूट

अमेरिकी प्रेसीडेंट ने पत्नी मेलानिया के साथ पांच बजे ताजमहल का दीदार किया। जबकि बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनर डायना सीट तक रहे। इस दौरान ताज परिसर में मौजूद सुरक्षाकर्मियों और अधिकारियों के साथ भी तस्वीर खिंचवाई। मेहमाननवाजी से लबरेज ट्रंप फैमिली ने किसी को निराश नहीं किया और पूरे शांत मन से सभी के साथ तस्वीर खिंचवाई। अमेरिकी राष्ट्रपति पत्नी मेलानिया का हाथ थामे मुख्य गुंबद में मौजूद शाहजहां और मुमताज की कब्र तक गए। वापस आते हुए उन्होंने शाम की लालिमा में ढके ताज को बार-बार निहारा। ताज परिसर में बने 17 हेक्टेयर के बगीचे को भी ट्रंप ने पत्नी के साथ देखा। फूलों के बीच से गुजर रहे अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और मेलानिया को गाइड नितिन सिंह ताजमहल के इतिहास से रूबरू कराते रहे। बेटी इवांका अपने मोबाइल फोन से ताज महल के सामने लगातार तस्वीरें खिंचवाती रहीं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने पत्नी के साथ दुनियाभर में फेमस डायना बेंच पहुंचे और यादगार तस्वीर खिंचवाई। यह पहली बार है जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपनी पत्‍‌नी के साथ तस्वीर खिंचवाई है।

थामे रहे पत्नी का हाथ

अमेरिकी राष्ट्रपति करीब 45 मिनट तक ताजमहल में रहे। इस दौरान वे पत्‍‌नी मेलानिया का हाथ थामे रहे। मुख्य गुंबद के समीप रॉयल गेस्ट ने ताज के पा‌र्श्व से अस्त हो रहे सूरज को देखा और दोनों पैरों से ऊपर उठकर इस प्राकृतिक नजारे का आनंद लिया। ताज गार्डन में चहलकदमी करते हुए रॉयल गेस्ट ने गाइड नितिन सिंह द्वारा दी जा रही जानकारियों को बेहद गंभीरता से सुना। ट्रंप और मेलनिया बीच-बीच में गाइड को रिस्पॉन्स भी दे रहे थे। बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनर ने भी डायना बेंच पर तस्वीर खिंचवाई।

विजिटर बुक में किए साइन

करीब एक घंटा ताज की खूबसूरती को निहारने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ने ताज परिसर में रखी विजिटर बुक में अपने विचार लिखे। ताज को भारत के लिए सांस्कृतिक धरोहर बताते हुए 'ताजमहल ने दी प्रेरणा: भारतीय संस्कृति की समृद्ध और विविध सुंदरता के लिए एक कालातीत वसीयतनामा' लिखा। उन्होंने विजिटर बुक में भारत को धन्यवाद भी लिखा। बता दें कि ट्रंप का काफिला होटल अमर विलास से 27 गोल्फ कार्ट से ताजमहल के पूर्वी गेट से परिसर में दाखिल हुआ। जहां रॉयल गेट से करीब डेढ़ किमी तक पैदल चलकर ट्रंप ने पत्‍‌नी मेलानिया के साथ ताज का दीदार किया। वहीं बता दें कि होटल अमर विलास में ट्रंप फैमिली के लिए कोहिनूर सुएट बुक था। इससे पहले वीवीआईपी रूट पर एक दर्जन से अधिक स्थानों पर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से आए लोक कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियां दीं।

सीएम ने दी विदाई

ताजमहल के साए में करीब एक घंटा गुजारने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति का काफिला खेरिया एयरपोर्ट की ओर रवाना हो गया। वापसी के दौरान भी लोक कलाकारों और स्कूली बच्चों ने ट्रंप को विदाई दी। जबकि एयरपोर्ट पर विदाई से पहले राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, सीएम योगी आदित्यनाथ ने ताजमहल का एक बड़ा चित्र भेंट किया। खेरिया एयरपोर्ट से ट्रंप की विदाई के करीब 30 मिनट बाद विभिन्न रास्तों से बेरीकेडिंग को हटाया गया, जिससे शहर में जाम की विस्फोटक स्थिति नजर आई। वहीं अव्यवस्था के चलते देर रात तक कलाकार और स्कूली बच्चे सड़क पर ही खड़े रहे।

Posted By: Inextlive