कुंभ मेला को लेकर डॉट पुल के रास्ते भी जल्द होंगे दुरूस्त

रेलवे, पुलिस और एडमिनिस्ट्रेशन की ज्वाइंट मीटिंग में निर्णय

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ मेला 2019 के मद्देनजर शहर के अंदर व बाहरी इलाकों में जितने भी फ्लाईओवर और आरओबी बन रहे हैं, 30 नवंबर तक हर हाल में कम्प्लीट होने के साथ ही चालू हो जाएंगे. डॉट पुल चौड़ीकरण के बाद सड़कों की मरम्मत व ब्यूटीफिकेशन का काम भी जल्द ही पूरा किया जाएगा. यही नहीं क्राउड मैनेजमेंट के लिए टेक्निक का इस्तेमाल किया जाएगा. कुंभ मेला तैयारी को लेकर सोमवार को एनसीआर हेडक्वार्टर में रेलवे, पुलिस और एडमिनिस्ट्रेशन की ज्वाइंट मीटिंग में यह निर्णय लिया गया.

जीएम ने की अध्यक्षता

कुंभ मेला तैयारी मीटिंग की अध्यक्षता जीएम एनसीआर राजीव चौधरी ने की. मीटिंग में जीएम के अलावा एडीजी एसएन साबत, कमिश्नर डॉ. आशीष कुमार गोयल, डीएम प्रयागराज सुहास एलवाई, मेला अधिकारी विजय किरण आनंद, एडीए वीसी बीसी गोस्वामी, डीआरएम इलाहाबाद अमिताभ आदि मौजूद रहे. जीएम राजीव चौधरी ने कहा कि रेलवे और एडमिनिस्ट्रेशन के ज्वाइंट सहयोग से रेल ओवर ब्रिज का निर्माण अब लास्ट स्टेज पर है. इसे 30 नवंबर तक चालू कर दिया जाएगा. डॉटपुलों के चौड़ीकरण से यातायात व्यवस्था दुरुस्त होगी.

- जीएम ने कहा कुंभ के दौरान प्रवासी भारतीयों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी

- लखनऊ और प्रयागराज रेल रूट के डबलिंग का काम कुंभ मेला के बाद कराया जाएगा

- छह स्पेशल टूरिस्ट गाडि़यों से यात्रियों को वाराणसी और प्रयाग का दर्शन कराया जाएगा

रेलवे करेगा निर्माण का भुगतान

सोहबतियाबाग और सीएमपी डॉटपुलों का साइडवॉल बनाने पर चर्चा हुई. कमिश्नर ने कहा कि सड़क निर्माण, चौराहों का सुंदरीकरण का काम तय समय पर पूरा कराया जाएगा. रेलवे क्षेत्र में जो सड़क बनेगी उसका भुगतान रेलवे द्वारा किया जाएगा. उन्होंने सभी डॉटपुलों के नीचे और आस-पास की सड़क को जल्द बनाने तथा स्वच्छता एवं सुंदरीकरण नवंबर माह के अंत तक पूरा करने पर जोर दिया.

एडीजी ने बताई तैयारियां

एडीजी एसएन साबत ने सुरक्षा के मद्देनजर अपनी तैयारियां बताई. उन्होंने बताया कि मेला में भगदड़ से हुई दुर्घटना को रोकने के लिए विशेष सतर्कता बरती जाएगी. कुंभ मेलाधिकारी विजय किरन आनंद ने रेलवे लाइन के पास स्थित बस्तियों में शौचालयों की सुविधा उपलब्ध कराने पर जोर दिया. डीआरएम अमिताभ ने रेलवे स्टेशनों के पास पेड़, बिजली के खंभों और अतिक्रमण हटाने की बात कही.