कई सेक्टर्स में तैयार नहीं हो सकी लाभार्थियों की सूची

महज छह हजार कार्ड बनाए गए, कुछ सेक्टर्स में अनाज बांटे जाने का दावा

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ में दूसरा स्नान करीब आ गया, लेकिन अभी तक लाभार्थियों को सरकारी अनाज का वितरण प्रॉपर्ली शुरू नहीं हो सका. कोटेदारों ने बताया कि अनाज आकर रखा हुआ है. लेकिन लाभार्थियों की सूची उपलब्ध नहीं कराए जाने से वितरण करना संभव नहीं है. उधर पब्लिक अपने टेंट में राशन कार्ड बनवाने के लिए जिम्मेदार कर्मचारियों की राह देख रहे हैं. उनकी मानें तो सरकारी अनाज नहीं मिलने से उनका नुकसान हो रहा है.

बनना है डेढ़ लाख कार्ड

पिछले कुंभ में खाद्य एवं रसद विभाग ने एक लाख राशन कार्ड बनाए थे. इस बार डेढ लाख का‌र्ड्स का लक्ष्य रखा गया है. बावजूद इसके गुरुवार तक महज छह हजार कार्ड ही बनाए जा सके थे. विभागीय अधिकारियों का कहना है कि प्रत्येक सेक्टर में लेखपाल और सचिव को कार्ड बनाने के लिए रखा गया है. वह कैंप-कैंप जाकर लोगों का फार्म भर रहे हैं. इसके अलावा सफाईकर्मियों का भी कार्ड बनाया जा रहा है. बहुत जल्द कार्ड बनकर तैयार हो जाएगा. विभाग का दावा है कि कई सेक्टर में अनाज बांटा भी गया है.

दी गई है बड़ी जिम्मेदारी

इस बार शासन ने खाद्य एवं रसद विभाग को अधिक से अधिक कार्ड बनाकर अनाज बांटने की जिम्मेदारी दी है. यह भी कहा गया है कि कल्पवासियों सहित निचले वर्ग व सफाई कर्मियों को भी सस्ता अनाज मुहैया कराया जाए. अनाज की चोरी रोकने के लिए भी अनाज के बोरे में टैग और सीसीटीवी कैमरे लगाने के आदेश भी दिए गए हैं. जिससे अनाज वितरण में पारदर्शिता बनी रहे. ऐसे में अनाज वितरण में हो रही लेटलतीफी शासन के इरादों पर पानी फेरने का काम कर रही है. इस बार मेले में राशन की कुल 160 दुकानें खोली जा रही हैं.इनका आवंटन पहले हो चुका है.

कम्पल्सरी नहीं है फोटो

मेला प्रशासन ने राशन कार्ड बनाए जाने के दौरान फॉर्म पर फोटो लगाने के आदेश को वापस ले लिया है. इसमें काफी दिक्कत पेश आ रही थी. लोगों का कहना है कि फोटो बनाने के नाम पर दुकानदार काफी पैसे ले रहे थे. इस बात की शिकायत मेला प्रशासन से की गई. इसके चलते फोटो की अनिवार्यता को हटा लिया गया.

4, 5,14 व 18 सेक्टर में अनाज बांटा गया है. सूची जल्द तैयार हो जाएगी. अगर लोगों को शिकायत है तो ऑफिस में आकर दर्ज करा सकते हैं. सफाईकर्मियों का कार्ड भी बनाया जा रहा है.

-ओम हरि उपाध्याय

डीएसओ कुंभ मेला