वाराणसी (ब्यूरो)। बहुत जल्द ही देश के अन्य जगहों पर रहने वाले और सात समुंदर पार रह रहे बाबा के भक्त वाराणसी स्थित विश्वनाथ मंदिर में पूजन-अनुष्ठान के विधान पूरा कर सकेंगे। ई-पूजा के तहत विश्व के किसी भी देश में बैठे श्रद्धालु वीडियो कांफ्रेंसिंग के थ्रू आनलाइन पूजन व अनुष्ठान में शामिल होकर पुण्य के भागी बन सकेंगे। इसके लिए नवंबर में आनलाइन पूजा और अनुष्ठानों को पूरा कराने के लिए कंपनी अधिकृत हो जाएगी।

आनलाइन जमा करना होगा शुल्क

कम्पनी चयन के बाद एक महीने के भीतर अमेरिका, यूरोप, दक्षिण पूर्व एशिया, उत्तरी अफ्रीका, आस्टे्रलिया, फिजी, मारीशस सहित अन्य देशों से श्रद्धालु डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से पूजा की सभी सुविधाएं पा सकेंगे। इसमें रूद्राभिषेक, महामृत्युंजय जाप समेत अन्य अनुष्ठान होंगे। इसके लिए आनलाइन तय धनराशि जमा करनी होगी। उनकी इच्छानुसार डेट व टाइम एलाट कर पूजन-अभिषेक किए जाएंगे। इसके साथ ही संबंधित भक्त को प्रसाद भी भेजा जाएगा। दुनिया भर के सनातन धर्मियों की आस्था व श्रद्धा के केंद्र बाबा दरबार में चार साल पहले भी आनलाइन पूजा शुरू की गई थी। इसकी जिम्मेदारी फिल्म अभिनेता डिनो मारिया की कंपनी को दिया गया था, लेकिन विवाद होने के कारण सिस्टम आगे नहीं बढ़ सका।

सुंदरीकरण को पीडब्ल्यूडी का नया खंड

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण व सुंदरीकरण परियोजना का काम अब तेजी से परवान चढ़ेगा। परियोजना को गति देने के लिए शासन ने लोक निर्माण विभाग का लखनऊ स्थित खंड वाराणसी स्थानांतरित करने के लिए मंजूरी दे दी है। लोक निर्माण विभाग ने इस बारे में शासनादेश जारी कर दिया है। शासनादेश के मुताबिक श्री काशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण/सुंदरीकरण परियोजना के निर्माण के लिए लोक निर्माण विभाग के लखनऊ स्थित अस्थायी नियोजन एवं अनुश्रवण खंड-4 को वाराणसी स्थानांतरित किए जाने को स्वीकृति दे दी गई है।

'श्री काशी विश्वनाथ के भक्तों की संख्या लगातार बढ़ रही है। देश और विदेशों से आने वाले भारतीय मूल के लोगों की इच्छा पर ई-पूजा का प्लान बनाया जा रहा है। दीपावली के बाद टेंडर प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।'

- विशाल सिंह, सीईओ

varanasi@inext.co.in

Posted By: Inextlive Desk

National News inextlive from India News Desk