पटना (ब्यूरो)। राज्यवासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. दो साल में पटना से नेपाल की राजधानी काठमांडू तक सीधी रेल सेवा बहाल की जाएगी. इस अवधि में दोनों शहरों के बीच रेल लाइन का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा. इसके अलावा जयनगर से बद्रीवास एवं जयनगर से जनकपुर तक रेलवे लाइन पर भी तेजी से काम हो रहा है. ये बातें बुधवार को पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने बिहार उद्योग संघ के सभागार में आयोजित एक कार्यक्रम में कहीं.

बिछाई जा रही हैं तीन लाइनें
जीएम ने कहा कि रेलवे पटना के हार्डिग पार्क से सोनपुर के बीच लोकल रेल सेवा शुरू करने की तैयारी में है. इसके लिए रेलवे ने सरकार से पोस्टल विभाग की जमीन की मांग की है. जमीन मिलने के बाद रेल सेवा शुरू करने की तैयारी प्रारंभ कर दी जाएगी. बाढ़ से बख्तियारपुर तक तीन लाइन बिछाई जा रही हैं. इससे यातायात सुचारु करने में काफी सुविधा होगी.

 

प्लेटफॉर्म के बाहर नहीं रुकेंगी ट्रेनें

महाप्रबंधक ने कहा कि अब कोई भी ट्रेन पटना में प्लेटफॉर्म के बाहर नहीं रूकेगी. ट्रेनों के परिचालन के लिए हाईटेक तकनीक का उपयोग किया जा रहा है. इससे ट्रेनों की गति में काफी सुधार हुआ है. जीएम ने कहा कि रेलवे हमेशा विभाग से पंजीकृत उद्यमियों से ही किसी उत्पाद की खरीदारी करती है. जिन उद्यमियों ने अभी तक पंजीयन नहीं कराया है, वे जल्द से जल्द अपना पंजीयन करा लें. इससे रेलवे को उनसे खरीदारी करने में सुविधा होगी. इसके लिए भविष्य में बीआइए सभागार में एक कार्यशाला भी आयोजित की जाएगी.

 

आजादी के बाद चलेगी रेल

जीएम ने कहा कि निर्मली और सीतामढ़ी के बीच जल्द ही रेल सेवा बहाल की जाएगी. आजादी के पूर्व यहां पर रेल सेवा बहाल थी, लेकिन 1934 में भूकंप के बाद यह सेवा बंद हो गई थी. जो पुल उस समय टूट गया था, वह फिर से बना दिया गया है. पूर्व मध्य रेलवे में अब छोटी लाइन नहीं रहेगी. सभी को बड़ी लाइन में बदल दिया जाएगा. इससे यात्रियों को काफी सुविधा होगी.

patna@inext.co.in

National News inextlive from India News Desk