नई दिल्ली (आईएएनएस)। हरियाणा के रोहतक जिले में रिक्टर पैमाने पर 4.6 की तीव्रता वाले भूकंप ने शुक्रवार शाम को राष्ट्रीय राजधानी और इसके आसपास के क्षेत्रों को झकझोर दिया। नेशनल सेंटर फॉर सीस्‍मोलॉजी के अनुसार भूकंप की गहराई 3.3 किमी व केंद्र रोहतक से 16 किलोमीटर पूर्व-दक्षिणपूर्व में था। यह रात 9 बजकर 08 मिनट पर आया। यूरोपियन-मेडिटेरेनियन सीस्मोलॉजिकल सेंटर ने कहा कि भूकंप राष्ट्रीय राजधानी के उत्तर-पश्चिम में 49 किलोमीटर की दूरी पर उत्पन्न हुआ। झटके ने लोगों को डर से अपने घरों से बाहर निकलने के लिए मजबूर कर दिया। अब तक किसी के भी हताहत या संपत्ति को नुकसान की सूचना नहीं है। पांच से कम मैग्निट्यूड वाले भूकंप के कारण बड़े पैमाने पर नुकसान होने की संभावना नहीं है, जब तक कि कोई संरचना कमजोर या क्षतिग्रस्‍त नहीं हो।

कम तीव्रता वाले भूकंप राष्ट्रीय राजधानी को अप्रैल से झकझोर रहे हैं। यह भूकंप का सातवां झटका है जिसने पिछले एक महीने में एनसीआर क्षेत्र को हिला दिया। 10 मई को, 3.5 की तीव्रता वाले भूकंप ने राष्ट्रीय राजधानी और इसके आस-पास के क्षेत्रों को प्रभावित किया था। भूकंप का केंद्र दिल्ली के वजीरपुर के पास था। 12 और 13 अप्रैल को, मध्‍यम तीव्रता के भूकंप के झटके जो रिक्‍टर स्‍केल पर 3.5 और 2.7 थे महसूस किए गए। दिल्‍ली भारत के भूकंपीय मानचित्र के जोन IV पर स्थित है। ज़ोन IV और V में विनाश की अधिक संभावना है। लोगों ने माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट, ट्विटर पर दावा किया कि दुनिया का अंत आ गया है। एक यूजर, आरती भारद्वाज ने लिखा, 'प्रिय भगवान, महामारी, भूकंप, चक्रवात, इस वर्ष हमें दिखाने के लिए आपके पास और क्या है? कृपया दया करें और कुछ दया दिखाएं।'

Posted By: Inextlive Desk

National News inextlive from India News Desk