आइजोल (पीटीआई)। सोमवार सुबह आए 5.3 तीव्रता के भूकंप ने मिजोरम में तबाही मचाई। कई स्थानों पर मकानों और सड़कों पर दरारें पड़ गईं। राज्य के भूविज्ञान और खनिज संसाधन विभाग के अधिकारी ने कहा कि किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी का हवाला देते हुए, उन्होंने कहा कि भूकंप सुबह 4.10 बजे आया था और भूकंप का केंद्र भारत-म्यांमार सीमा पर चम्फाई जिले के जोखावथर में था।
चर्च सहित कई मकान क्षतिग्रस्त
अधिकारी ने कहा कि राज्य की राजधानी आइजोल सहित राज्य के कई हिस्सों में झटके महसूस किए गए। उन्होंने कहा कि चंबाई जिले के ख्वाबुंगा में जोखवतार में एक चर्च सहित कई मकान और इमारतें आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गई हैं। साथ ही कई स्थानों पर राजमार्गों और सड़कों पर दरारें पैदा कर दीं। अधिकारी ने कहा कि नुकसान की पूरी सीमा का अभी पता नहीं चल पाया है। भूकंप की गहराई 20 किमी थी। मिजोरम में आने वाला यह तीसरा भूकंप है। इससे पहले रविवार को सुबह 5.1 तीव्रता का भूकंप आया, और 18 जून को 4.6 तीव्रता का एक और झटका लगा था।


पीएम मोदी ने मदद का आश्वासन दिया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा से बात की और राज्य में आए भूकंप के मद्देनजर उन्हें हर संभव समर्थन देने का आश्वासन दिया। प्रधानमंत्री के एक ट्वीट में लिखा है, "मिजोरम के मुख्यमंत्री, जोरमथांगा जी से भूकंप के मद्देनजर स्थिति पर चर्चा की। केंद्र से हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया।"

National News inextlive from India News Desk