कुछ खिलाडिय़ों को चोटों के कारण भी हटना पड़ा जबकि डेविड नालबांडियान को ‘वाटरगेट’ के लिए लगाए गए जुर्माने ने और भडक़ा दिया. इन सबके बीच हालांकि जोकोविच ने फ्रांस के खिलाड़ी माहूट को उनके 30वें जन्मदिन पर 6...0, 6....1, 6....1 से हराया.

माहूट ने भी बाएं घुटने की चोट को भुलाकर मैच का पूरा आनंद लिया और जब दूसरे सेट के शुरू में उन्होंने पहला गेम जीता तो उनके चेहरे की मुस्कान देखने लायक थी. बाद में पत्रकारों ने उन्हें जन्मदिन का केक भी दिया.

पिछले चैंपियन जोकोविच ने कहा, ‘‘निकोलस को पूरा श्रेय जाता है. निश्चित तौर पर उसके घुटने पर पट्टी बंधी हुई थी और मुझे उसके लिए अच्छा नहीं लग रहा था. वह अच्छी तरह से मूव नहीं कर पा रहा था और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की स्थिति में नहीं था लेकिन उसने मैच नहीं छोड़ा और कोर्ट पर बना रहा. मैं उसे जन्मदिन की बधाई देता हूं.’’

केवल माहूट ही चोट से नहीं जूझ रहे थे. अनाबेल मेडिना गारिगेज के बाद रूस की मारियो किरिलेंको चोटिल होने के कारण टूर्नामेंट से हटने वाली दूसरी महिला खिलाड़ी बन गई हैं. किरिलेंको विम्बलडन चैंपियन पेट्रा क्विटोवा के खिलाफ पहला सेट गंवाने के बाद तब दूसरा सेट खेल रही थी जब उन्होंने हटने का फैसला किया. इससे क्विटोवा भी कारोलिन वोजनियाकी से नंबर एक रैंकिंग हासिल करने के और करीब पहुंच गई.

चौथे दौर में उनका मुकाबला सर्बियाई अन्ना इवानोविच से होगा जिन्होंने वानिया किंग को सीधे सेटों में 6...3, 6....4 से हराया. चार साल पहले यहां महिला वर्ग की चैंपियन बनी मारिया शारापोवा ने भी एंजलिक क्रेबर को आसानी से 6....1, 6...2 से हराया.

लेकिन दुनिया की पूर्व नंबर दो खिलाड़ी और यहां सातवीं वरीय वेरा जुएनरेवा तब आंसू नहीं रोक पाई जब हमवतन रूसी खिलाड़ी इकटेरिना मकारोवा ने उन्हें 7...6, 6...1 से बाहर का रास्ता दिखाया. चीन की च्यांग झी ने भी फ्रांस की नंबर एक खिलाड़ी और नौवीं वरीयता प्राप्त मरियन बार्तोली को 6....3, 6....3 से उलटफेर का शिकार बनाया.

फ्रांस के जो विल्फे्रड सोंगा ने पुर्तगाल के फ्रेडरिको जिल के खिलाफ केवल छह गेम गंवाने के बाद चौथे दौर में जगह बनाई. उन्होंने यह मैच 6...2, 6....2, 6....2 से जीता। उनके हमवतन फ्रांसीसी रिचर्ड गास्केट भी चौथे दौर में पहुंच गए हैं जबकि स्पेन के डेविड फेरर ने जुआन इग्नेसियो चेला को 7....5, 6....2, 6...1 से हराया.

inextlive from News Desk