गवर्नर, जस्टिस, टीचर, अफसरों के साथ सेंट्रल मिनिस्टर के खिलाफ फेसबुक व ट्विटर पर की अभद्र टिप्पणी

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का एमए का छात्र है आरोपित, कर्नलगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज

PRAYAGRAJ: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में एमए द्वितीय वर्ष प्राचीन इतिहास के छात्र गौरव तिवारी को फेस बुक व ट्विटर पर अभद्र टिप्पणी करना महंगा पड़ने जा रहा है. यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर प्रो. रामसेवक दुबे की तहरीर पर कर्नलगंज पुलिस ने छात्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर करके जांच शुरू कर दी है. उस पर इलाहाबाद यूनिवर्सिटी को बदनाम करने सहित तमाम रिनाउंड लोगों पर अमर्यादित टिप्पणी करने का आरोप है.

बलिया जिले का रहने वाला है छात्र

आरोपित छात्र मूल रूप से बलिया जिले के सिकंदरपुर तहसील एरिया का रहने वाला है. गौरव तिवारी इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में एमए द्वितीय वर्ष प्राचीन इतिहास का छात्र है. पुलिस को दी गई तहरीर में चीफ प्रॉक्टर ने कहा है कि उसका परिचय पत्र संख्या एमए 18/0311 है. गौरव ने अधिराष्ट्र नाम से फेसबुक व टिवटर पर आईडी बना रखी है. इसी आईडी से उसने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर पोस्ट की है. इसमें विश्वविद्यालय के छात्र व छात्राओं, शिक्षकों, उच्चाधिकारियों, केंद्रीय मंत्री, महामहिम राज्यपाल व न्यायाधीश आदि के खिलाफ अभद्र व आपत्तिजनक टिप्पणियां की है. उसने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी को बदनाम करने की कोशिश की. कर्नलगंज पुलिस ने तहरीर पर गौरव के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पड़ताल में साइबर सेल को भी लगाया गया है.

कुलानुशासक की तहरीर पर छात्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है. तहरीर में साक्ष्य के तौर पर डाउनलोड किए गए 73 पेज के अभिलेख भी लगाए गए हैं. रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है.

-अनूप सिंह,

इंस्पेक्टर कर्नलगंज