-जगह-जगह से निकाले गए जुलूसे मोहम्मदी

-परचम कुशाई से शुरुआत, दिन भर चलता रहा मिलाद का सिलसिला

GORAKHPUR: पैगंबर मोहम्मद साहब की यौम-ए-पैदाइश की खुशी ईद मिलादुन्नबी के तौर पर रविवार को अदब व एहतराम से मनाई गई. ईद मिलादुन्नबी के इस पुरकैफ माहौल में घरों, मस्जिदों, मदरसों व दरगाहों में 'जश्न-ए-ईद मिलादुन्नबी की महफिल सजाई गई. कुरआन शरीफ की तिलावत हुई. दरूदो-सलाम का नजराना पेश किया गया. फातिहा ख्वानी हुई. सुबह मस्जिदों पर परचम कुशाई (इस्लामी झंडा फहराना) की रस्म अदा की गई. कई मोहल्लों से बड़ी संख्या में जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया. जगह-जगह जुलूस का स्वागत हुआ. हर जुबां व सोशल मीडिया पर ईद मिलादुन्नबी की मुबारकबाद थी. इस हसीन मौके पर मुल्क में अमनो शांति व कौम की तरक्की के लिए खास दुआएं की गई.

देर रात तक निकाले गए जुलूस

जुलूस निकलने का सिलसिला सुबह जो शुरू हुआ तो देर रात जारी रहा. सभी ने सरकार की आमद मरहबा, या नबी सलाम अलैका, या रसूल सलाम अलैका, या हबीब सलाम अलैका, मुस्तफा जाने रहमत पे लाखों सलाम आदि का नजराना पैगंबर की बारगाह में पेश किया. नारा-ए-तकबीर अल्लाहु अकबर, नारा-ए-रिसालत या रसूलल्लाह, हिन्दुस्तान जिंदाबाद के नारे भी खूब लगे. कई जगह स्टॉल लगाकर जुलूसों का स्वागत किया गया. आकर्षक मस्जिद-दरगाह के मॉडल व इस्लामी पैगामत से सजे बोर्ड व बैनर पैगंबर की तालीमात पर रोशनी डाल रहे थे. कई जुलूसों में राष्ट्रीय झंडा भी लहराया गया.

यहां से निकला जुलूस-ए-मोहम्मदी

गुलशने रजा कमेटी लतीफनगर कॉलोनी पादरी बाजार से जुलूस-ए-ईद मिलादुन्नबी निकला. जिसमें नईम अरशद, इरफान वारसी, सुहेल सिद्दीकी, अनवर सलीम, हारिस हाशमी, सादिक अली, आफताब आदि मौजूद रहे. तुर्कमानपुर से जुलूस-ए-मोहम्मदी शान से निकला. इसमें मनोव्वर अहमद, अरशद, शाबान अहमद, अलाउद्दीन निजामी, नईम अहमद, मो. कलीम अशरफ, मुंशी रजा, तौहीद अहमद, शुएब अहमद आदि मौजूद रहे. गाजी रौजा से सुबह जुलूस निकला, जिसमें मो. आजम, हाजी उबैद खान, नावेद आलम, शहबाज, शिराज, काजी ईनामुर्रहमान, ताबिश सिद्दीकी, मसूद कलीम, मो. शब्बीर, जाहिद अली, जकी सिद्दीकी, हनीफ, मो. फैज अली, फहीम, शादाब अहमद शामिल हुए. इसी तरह रहे. मोहल्ला मियां बाजार से वारिस कमेटी की जानिब से जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया. रहमतनगर, मदरसा अरबिया शम्सुल उलूम अहले सुन्नत चाफा मिर्जापुर बाजार, फैजाने गौसुलवरा नौजवान कमेटी ने अहमदनगर से, तहरीक दावते इस्लामी हिन्द ने खूनीपुर से, बसंतपुर सराय, मस्जिद हसनैन घासीकटरा, खोखरटोला, धम्माल, तिवारीपुर, रसूलपुर, गोरखनाथ, घोसीपुरवा सहित सभी मोहल्लों से जुलूस निकला.

मदरसा हुसैनिया में महफिले मिलाद

मदरसा दारुल उलूम हुसैनिया दीवान बाजार की ओर से रविवार को जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया. जुलूस अपने निर्धारित मार्ग पर होता हुआ मदरसे पर समाप्त हुा. जुलूस में इस्लामिक परचम के साथ मदरसें के छात्र-छात्राओं के हाथों में झण्डियों व बैनर थे. जिन पर इस्लाम धर्म की शिक्षाएं लिखी थी. बच्चे नात-ए-पाक व इस्लामी नारों की सदा बुलंद करते हुए चल रहे थे. जुलूस समाप्ति के बाद ईद-ए-मिलाद की महफिल हुई. जिसमें उलेमा ने पैगंबर की जिदंगी पर रोशनी डाली. इसके बाद मुल्क में अमनों अमान की दुआएं मांगी गई. दुआ के बाद शीरीनी तकसीम की गई. इस मौके पर प्रबंधक हाजी सैयद तहव्वर हुसैन, प्रधानाचार्य हाफिज नजरे आलम कादरी, मो. आजम, नावेद आलम, हिमायतुल्लाह, मो. सरफुद्दीन सहित तमाम लोग मौजूद रहे. नार्मल स्थित दरगाह हजरत मुबारक खां शहीद अलैहिर्रहमां से बाद नमाज जोहर जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया.

Posted By: Inextlive