पटना (बिहार) (एएनआई) । बिहार में आज राज्य मंत्रिमंडल का बहुप्रतीक्षित विस्तार हो गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में 8 मंत्री शामिल हुए हैं। मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों में अशोक चौधरी, श्याम रजक, लक्ष्मेश्वर प्रसाद, भीम भारती, राम सेवक सिंह, संजय झा, नीरज कुमार और नरेंद्र नारायण यादव शामिल हैं। इन सबको राजभवन में राज्यपाल लालजी टंडन द्वारा पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई।

इसलिए सिर्फ जेडीयू नेताओं को शामिल किया गया
मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि जनता दल-युनाइटेड (जदयू) और भाजपा बीच सब कुछ ठीक है। मंत्रालय में जेडी-यू कोटे से रिक्तियां थीं। इसलिए सिर्फ जेडीयू नेताओं को शामिल किया गया था। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र में एनडीए में शामिल नहीं हुई। वहीं बिहार के उप मुख्यमंत्री और बिहार भाजपा अध्यक्ष सुशील मोदी ने भी इस पर सफाई दी है।

भाजपा और जदयू के बीच दरार की खबरें आ रही

सुशील मोदी का कहना है कि जेडीयू ने अपने कोटे से मंत्रियों को शामिल किया है। हमारे पास राज्य मंत्रिपरिषद में खाली पद हैं जो भविष्य में भरेंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी के नए मंत्रिमंडल में केवल एक ही मंत्री पद के आवंटन को लेकर भाजपा और जदयू के बीच दरार की खबरें आ रही हैं। हालांकि इस संबंध में रजक ने एएनआई को बताया कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) बरकरार है। लोग केवल अफवाहें फैला रहे हैं।
मीटिंग में मंत्री पढ़ते थे WhatsApp मैसेज, योगी ने कैबिनेट मीटिंग में मोबाइल यूज पर लगाया बैन
नीरज कुमार बोले जदयू कभी एनडीए से नहीं हटेगी
वहीं आज शपथ ग्रहण करने वाले जेडीयू के नेता नीरज कुमार का कहना है कि जदयू कभी भी एनडीए से नहीं हटेगी। मंत्रालय का गठन मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है। बता दें कि जदयू ने 30 मई को पीएम मोदी के नए मंत्रालय का हिस्सा बनने का फैसला किया। हालांकि जदयू ने भाजपा की ओर से केवल एक मंत्री की पेशकश को खारिज कर कहा था कि यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं है, हम एनडीए में हैं और बिल्कुल भी परेशान नहीं हैं।

National News inextlive from India News Desk