क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : जिन लोगों ने भी आवास बोर्ड का फ्लैट या मकान ले रखा है, उनको मालिकाना हक विधानसभा चुनाव के पहले ही मिल जाएगा. नगर विकास विभाग इसके लिए जल्द ही नोटिफिकेशन जारी करने वाला है. इस नोटिफिकेशन के बाद आवास बोर्ड की जमीन अथवा फ्लैट की खरीद-बिक्री पर अभी तक जो लाभांश आवास बोर्ड को देना पड़ रहा है वो नहीं देना होगा. इससे खरीदी गई संपत्ति की अधिक कीमत मिलेगी. बता दें कि आवास बोर्ड के मकान को फ्री होल्ड करने का प्रस्ताव सरकार ने फरवरी में ही कैबिनेट से पास कर दिया था. लेकिन इन फ्लैट्स व मकानों को फ्री होल्ड करने से पहले इसके रिव्यू के लिए एक कमेटी बनाई गई थी. उसकी रिपोर्ट आने के बाद ही सरकार ने ऐसे हजारों लोगों को चुनाव से पहले यह सौगात देने का डिसीजन लिया है.

कब्जेधारियों के नाम होगी रजिस्ट्री

जल्द ही राज्य में आवास बोर्ड की जमीन और मकान फ्री होल्ड हो जाएंगे. इससे संबंधित ऑर्डर जल्द जारी किया जाएगा. मतलब अब तक जिनको आवास बोर्ड की प्रॉपर्टी लीज पर दी जाती थी, वह अब उनके नाम से रजिस्ट्री होगी. जिसके बाद वे आम प्रॉपर्टी की तरह उसे भी बैंक में मार्गेज करा सकेंगे.

यह होगा फायदा

आवास बोर्ड अभी तक अपने क्षेत्र में जमीन अथवा फ्लैट की खरीद-बिक्री पर 50 फीसद लाभांश लेता है. इसका मतलब यह कि अगर किसी फ्लैट की कीमत 40 लाख रुपये है तो बोर्ड इसके लिए 20 लाख रुपये लाभांश लेता है. इस प्रकार इस संपत्ति की कीमत 60 लाख रुपये होती है. लेकिन इस नोटिफिकेशन के बाद लोगों को अपनी संपत्ति की खरीद-बिक्री पर आवास बोर्ड को यह राशि नहीं देनी होगी, इससे उन्हें संपत्ति की अधिक कीमत मिलेगी.

लोगों को मिलेगा लाभ

आवास बोर्ड के फ्लैट और भूखंड यूं तो महंगे बिकते हैं लेकिन कॉलोनियों का हाल बुरा होता है और उसका एक बड़ा कारण है जमीन पर मालिकाना हक नहीं होना. फ्री होल्ड होने से आवंटी का मालिकाना हक होगा और वह अपने हिसाब से कॉलोनी को बेहतर बनाने के लिए प्रयास कर सकेगा.